• विधायक इरफान अंसारी के प्रयास से मजदूरों को कराया गया मुक्त, बिहार के डीजीपी से बात कर कार्रवाई की मांग की

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 08:55 PM IST

जामताड़ा. बिहार के औरंगाबाद से जामताड़ा के 28 मजदूरों को लाने गई बस चालक व अन्य के साथ चावल मिल मालिक के कर्मियों ने मारपीट की। इस संबंध में मजदूरों ने घटना की जानकारी विधायक इरफान अंसारी को दी। सूचना मिलने पर इरफान अंसारी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे, डीएम व एसपी औरंगाबाद से बात की और तत्काल कार्रवाई की मांग की। बिहार सरकार ने तत्परता दिखाते हुए मजदूरों को वहां से मुक्त कराया और बस से रवाना किया।
 

इस संबंध में जानकारी देते हुए विधायक इरफान अंसारी ने बताया कि जामताड़ा विधानसभा के श्यामपुर, बैजनाथपुर, सुखजोड़ा, मधुबन व रानीडीह के 28 मजदूर बिहार के औरंगाबाद जिले के मदनपुर बाबा राइस मिल में कार्यरत थे। मिल मालिक ने लॉकडाउन के अवधि में सभी को बंधक बना लिया था। बताया कि सभी मजदूरों का खाना-पीना भी मिल मालिक ने बंद कर दिया था। 

इरफान ने बताया कि सभी मजदूरों को वापस लाने के लिए जामताड़ा से औरंगाबाद एक बस भेजी गयी थी। ताकि सभी मजदूर को सही सलामत वापस लाया जा सके। लेकिन राइस मिल के मालिक ने बेरहमी से बस के चालक को पीटा और वहां से भाग जाने को कहा। बस चालक के साथ जामताड़ा के रविंद्र मरांडी भी गए थे। जिन्होंने फौरन वहां से विधायक को घटना की सूचना दी। विधायक ने भी त्वरित कार्रवाई करते हुए बिहार के डीजीपी और मुख्यमंत्री से बात की और दोषियों पर कार्रवाई की मांग की।

विधायक ने कहा कि बिहार के लोग अच्छे हैं। लेकिन कुछ लोगों के वजह से बदनामी हो रही। कहा कि बिहार के भी हजारों मजदूर झारखंड में बसे हैं और काम कर रहे हैं। विधायक ने त्वरित कार्रवाई करने के लिए बिहार और झारखंड के मुख्यमंत्री सहित सभी अधिकारियों को धन्यवाद दिया। कहा कि अब जिले के मजदूर सही सलामत वापस जामताड़ा आ रहे हैं। विधायक के पहल पर कंपनी के मालिक पर एफआइआर भी दर्ज हो चुका है। विधायक ने बताया कि सूचना मिलने पर जामताड़ा के कमल राय नाम का व्यक्ति कंपनी से भाग निकला था जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here