• चीन ने 21 मई को घोषणा की थी कि वह हॉन्गकॉन्ग में विरोध को दबाने के लिए नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून बनाएगा
  • व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव ने गुरुवार को कहा था कि हॉन्गकॉन्ग के प्रति चीन की कार्रवाइयों से राष्ट्रपति नाराज हैं

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 11:16 AM IST

वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को चीन को लेकर इस सप्ताह के अंत तक कोई बड़ी घोषणा करने का वादा किया है। माना जा रहा है कि वे चीन को दंडित कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम कुछ ऐसा करने जा रहे हैं, जो मुझे लगता है आप लोगों को पसंद आएगा। लेकिन, इसकी घोषणा मैं आज नहीं करूंगा।

उन्होंने चीन और हॉन्गकॉन्ग के बीच चल रहे विवाद को लेकर चीन पर प्रतिबंध लगाए जाने के सवाल ये बातें कही। इससे पहले व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायले मैकनेनी ने गुरुवार को कहा था कि हॉन्गकॉन्ग के प्रति चीन की कार्रवाइयों से राष्ट्रपति नाराज हैं।

चीन हॉन्गकॉन्ग में नया राष्ट्रीय सुरक्षा कानून बना रहा

चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) के वार्षिक सत्र में शुक्रवार को कम्युनिस्ट पार्टी ने हॉन्गकॉन्ग में नया सुरक्षा कानून बनाने का प्रस्ताव पेश किया था। इससे वह हॉन्गकॉन्ग में देशद्रोह, आतंकवाद, विदेशी हस्तक्षेप और विरोध करने जैसी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा सकेगा।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कानून की आलोचना हो रही

एनपीसी का वार्षिक सत्र 28 मई को खत्म होगा और ऐसी उम्मीद है कि इससे पहले ही कानून को लेकर एनपीसी में मतदान होगा। यह प्रस्ताव पारित होने के बाद कानून का रूप ले लेगा और जून के अंत तक हॉन्गकॉन्ग में इसे लागू कर दिया जाएगा। नए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून की घोषणा के बाद से ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसकी कड़ी आलोचना हो रही है।

चीनी विदेश मंत्री ने कहा था- हम इसे जल्द लागू करेंगे

चीन के विदेश मंत्री वॉन्ग यी ने भी 25 मई को कहा था, “हम बिना देरी किए हॉन्गकॉन्ग में नया सुरक्षा कानून लागू करेंगे। पिछले साल हॉन्गकॉन्ग में चीन की राष्ट्रीय सुरक्षा को गंभीर खतरे में डालने की कोशिश की गई। इसके बाद यह कानून लाना जरूरी था।”



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here