• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Under The Ayushman Bharat Scheme, 2 Crore 42 Lakh Cards Have Been Made In The State, More Than 80 Percent Of The Population Is Getting Covered

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंदौर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar

फाइल फोटो

इंदौर समेत प्रदेश के 288 निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना को 3 माह के लिए लागू कर दिया। इसमें 20 फीसदी बेड भी हितग्राहियों के लिए आरक्षित रखने के निर्देश दिए। निजी अस्पतालों में साढ़े 3 हजार से ज्यादा और सरकारी अस्पतालों में 13 हजार से अधिक ऑक्सीजन बेड भी मरीजों के इलाज के लिए इस योजना के तहत उपलब्ध हो जाएंगे। मुख्यमंत्री ने सभी कलेक्टरों को तुरंत इसे लागू करवाने के निर्देश भी दिए हैं। सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण आकाश त्रिपाठी के मुताबिक एडमिशन और उपचार के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति भी की जाएगी और शिकायत निवारण के लिए विशेष सेल भी बनेगा। शत-प्रतिशत पात्र परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा।

इस योजना में सिटी स्कैन, एमआरआई के लिए भी जो पहले 5 हजार रुपए प्रति वर्ष का प्रावधान था उसे भी अब कोविड उपचार के लिए भर्ती कार्ड धारकों के लिए 5 हजार रुपए प्रति कार्डधारी कर दिया है। यानी अगर परिवार में चार सदस्य हैं तो प्रत्येक के लिए 5-5 हजार की राशि रहेगी। क्योंकि अभी सिटी स्कैन ही बार-बार करवाने पर बड़ी राशि एक परिवार को खर्च करना पड़ती है, क्योंकि अधिकांश सदस्य पॉजिटिव निकल रहे हैं।

आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए नि:शुल्क कोविड उपचार उपलब्ध करवाने के लिए मुख्यमंत्री ने आयुष्मान योजना में संशोधन भी किए और नए प्रावधानों के साथ उसे तुरंत प्रभाव से लागू भी कर दिया है। इसे मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना भी नाम दिया गया है। सचिव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण आकाश त्रिपाठी ने योजना की जानकारी एवं क्रियान्वयन के लिये समस्त कलेक्टर्स और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को पत्र जारी किया है।

आयुष्मान पैकेज की दरों में 40 प्रतिशत की वृद्धि कर उनको वर्तमान में उपचार के लिये प्रायवेट अस्पतालों की दरों के समकक्ष लाया गया है। इसमें विशेष जाँचों जैसे सीटी स्केन, एमआरआई आदि की अधिकतम सीमा जो पूर्व में 5 हजार रूपये प्रति परिवार प्रतिवर्ष थी, इसे संशोधित कर वर्ष 2021-22 में कोविड-19 के उपचार हेतु भर्ती कार्डधारियों के लिए 5 हजार रुपये प्रति कार्डधारी कर दिया गया है। वर्तमान में प्रदेश के कोविड उपचार हेतु चिन्हित अस्पतालों की संख्या 579 के विरुद्ध मेडिसिन विशेषज्ञता वाले 288 अस्पताल ही आयुष्मान योजना के हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here