मुरैना7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
अधिकारियोंकी बैठक लेते कलेक्� - Dainik Bhaskar

अधिकारियोंकी बैठक लेते कलेक्�

  • जिले में बेटियों की घटती जनसंख्या पर जिला प्रशासन सख्त

जिले के गावों में घटा लिंगानुपात चिंतजानक है। 100 पुरुषों पर 895 महिलाएं हैं। इनकी संख्या कम क्यों है ? इसके लिए आप लोग उन गांवों में जाएं जहां महिलाओं की संख्या कम है। यह आदेश कलेक्टर बक्की कार्तिकेयन ने गुरुवार को पीसीपीएनटीडी एक्ट की बैठक में प्रशासनिक अधिकारियों को दिए।
बैठक में उन्होंने यह भी कहा कि देखने में आया है कि कई महिलाओं का प्रसव के पहले ही उनका एबॉर्शन करा दिया जाता है। कलेक्टर ने कहा कि 6 माह पहले ही विप्रो मशीन की अल्ट्रासाउण्ड मशीन पर छापामार कार्यवाई की गई थी, जिसमें अल्ट्रासाउण्ड मशीन के बारे में री-ऐसेम्बल करना कंपनी ने बताया था। इसके अलावा तमिलनाडु के एक डॉक्टर और स्टाफ नर्स, आरोपी पाए गए थे।
जिले में 18 अल्ट्रासाउण्ड मशीनें संचालित
कलेक्टर ने कहा कि जिले में 18 अल्ट्रासाउण्ड मशीनें संचालित हैं। इनमें केवल दो शासकीय हैं। मुरैना शहर में 14, जौरा में 2, सबलगढ़-बामौर में 1-1 अल्ट्रासाउण्ड मशीनें संचालित हैं। 6 और अल्ट्रासाउण्ड मशीनों की अनुशंसा प्राप्त हुई है। जिसमें डॉ. केएन मिश्रा, आरएल नर्सिंग होम, एबी, रोड टेकरी ने पंजीयन कराया है, उसे पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत सदस्यों ने अनुशंसा नहीं दी है।
महिला बाल विकास के सहयोग से करें भ्रमण
कलेक्टर ने कहा कि अगली बैठक में महिला बाल विकास के अधिकारी शामिल रहेंगे। उनके साथ सभी अधिकारी उन गांवों में जाएंगे जहां महिलाओं का रेशियो कम है।
तीन माह में कितनी महिलाएं हुई गर्भवती
कलेक्टर ने कहा कि इस बात का पता करें कि पिछले तीन माह में कितनी महिलाएं गर्भवती हुई हैं। उसकी रिपोर्ट के बाद यह देखें कि कितनी महिलाओं ने प्रसव से पहले गर्भपात कराया है। गर्भधारण से लेकर प्रसव तक महिलाओं की निगरानी की जाए। गर्भधारण के बाद प्रसव तक ऐसी महिलाएं निकाली जाएं, जो गर्भधारण के बाद गर्भपात करवा लेती हैं। उन महिलाओं की जानकारी जब निकल आएगी, उससे यह समझ में आ जाएगा कि उन महिलाओं ने आस-पास की किस अल्ट्रासाउण्ड मशीन पर गर्भपात करवाया है। इस बात की समीक्षा महिला बाल विकास विभाग करेगा। इससे जिन गांवों में बेटियों की संख्या कम निकल रही है, वह आंकड़े शासन की पकड़ में आ जाएंगे। उन्होंने सभी सदस्यों से कहा कि वे हर महीनें जिले के सभी 18 अल्ट्रासाउण्ड सेंटरों पर विजिट करें तथा पता करें कि महिला का गर्भपात किया गया तो क्यों किया गया। उसके पहले उसके कितने बच्चे थे।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here