• संक्रमण रोकने के लिए साउथ कोरिया के रेस्तरां से इंसानों को हटाया गया, इनकी ड्यूटी सिर्फ सफाई करने और सामान की सप्लाई तक सीमित हुई
  • कस्टमर टचस्क्रीन से ऑर्डर दे रहे और इसके बाद का सारा काम रोबोट संभाल रहे, छह कॉफी का ऑर्डर डिलीवर करने में रोबोट 7 मिनट लेता है

दैनिक भास्कर

May 28, 2020, 02:57 PM IST

दुनियाभर के रेस्तरां में सोशल डिस्टेंसिंग बरबरार रखने के लिए तरह-तरह के तरीके अपनाए जा हैं। साउथ कोरिया भी इनमें से एक है। यहां के रेस्तरां में ‘रोबोट बरिस्ता’ की ड्यूटी लगाई गई है। ये एक तरह का रोबोट है जो ग्राहकों के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का दायरा मेंटेन करने के साथ उनकी टेबल तक चाय, काफी और दूसरी चीजें पहुंचाता है। सिर्फ इतना ही नहीं रेस्तरां में सब कुछ ऑटोमैटिक कर दिया गया है। 

यहां कस्टमर आते हैं टचस्क्रीन पर अपना ऑर्डर देते है और इसी के साथ उनके लिए सर्विस शुरू हो जाती है। काउंटर पर लगा रोबोट ऑर्डर तैयार करके इस रोबोट बरिस्ता पर रखता है और ये ग्राहकों तक पहुंचाता है। लोगों का कहना है, ऐसे तरीकों से संक्रमण का डर नहीं रहता और हम आराम से अपनी चाय-काफी एंजॉय कर सकते हैं।
यह सुविधा साउथ कोरिया के देजॉन शहर में शुरू हुई है। रोबोट बरिस्ता बोलकर रेस्तरां में आने वाले ग्राहकों से बात भी करता है। इसमें ऐसे सेंसर का प्रयोग किया गया है जो सेल्फ-ड्राइविंग कार में लगाए जाते हैं। रोबोट बरिस्ता 60 तरह की काफी ग्राहकों तक पहुंचाता है, इसमें अमेरिकानो और रोइबूस टी भी शामिल है।
साउथ कोरिया में पिछले महीने लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील दी गई है। रेस्तरां, जिम, स्कूल और दुकानें खुल रही हैं। रोबोट को तैयार करने वाली टेक कम्पनी विजन सेमिकॉन के रिसर्च डायरेक्टर ली-डॉन्ग बे का कहना है कि रोबोट दो तरह से काम करता है। पहला, काउंटर पर रखी ऑटोमैटिक कॉफी मशीन किओस्क ऑर्डर के मुताबिक कॉफी तैयार करती है। दूसरा, वह काफी को इस वॉकिंग रोबोट पर रखती है। यह धीरे-धीरे मूव करते हुए कॉफी कस्टमर की टेबल तक पहुंचाता है।
रोबोट बरिस्ता में पीछे की ओर एक डिस्प्ले स्क्रीन, दो वर्चुअल आंखें और सेंसर लगाया गया है। इसकी मदद से यह टेबल तक ऑर्डर पहुंचाता है और ग्राहक से बात भी करता है। यह छह कॉफी का ऑर्डर डिलीवर करने में 7 मिनट लेता है। रेस्तरां में इंसानों की ड्यूटी सिर्फ सफाई और सामान की सप्लाई करने के लिए लगाई गई है।
टेक कम्पनी विजन सेमिकॉन का लक्ष्य साल के अंत तक 30 रेस्तरां में ऐसे रोबोट पहुंचाने का है। रेस्तरां में आए ग्राहक ली-चेमी का कहना है कि रोबोट काफी दिलचस्प है और ऑर्डर लेने के लिए काउंटर तक नहीं जाना पड़ता। लेकिन मुझे चिंता भी है अब इंसानों का क्या होगा क्योंकि मेरे कई दोस्त दूसरे रेस्तरां में पार्ट टाइम ड्यूटी करते हैं।

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here