• बेहट के इस युवक के साथ सिरसा गांव के करीब 10 लोग साथ आए थे, यह लोग अहमदाबाद में एक ही परिसर में साथ रहते थे
  • झाबुआ से यह लोग बस में सवार हुए थे, इसके बाद छह मई को ये मेहगांव से दूसरी बस में सवार हुए

दैनिक भास्कर

May 15, 2020, 05:52 PM IST

दतिया. लॉकडाउन के 51 दिनों तक ग्रीन जोन में रहे दतिया जिले में 52वें दिन बुरी खबर आई। गुरुवार को आई रिपोर्ट में चार पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। हालांकि इन मरीजों से खतरा इसलिए नहीं है क्योंकि सिरसा गांव के तीन युवक पहले से क्वारेंटाइन थे और मुंबई से लौट रहा एक युवक दतिया पहुंचा ही नहीं था। यह युवक दतिया में अपने घर आने के बजाए अपनी बुआ के यहां आंतरी पहुंच गया था। वहां इसकी जांच हुई और पॉजीटिव पाया गया।

मालूम हो कि छह मई को अहमदाबाद से ग्वालियर के बेहट दो लोग कोरोना संक्रमित निकले थे। यह लोग गुजरात के अहमदाबाद से अपने घर के लिए निकले थे। झाबुआ से यह लोग बस में सवार हुए थे। इसके बाद छह मई को ये मेहगांव से दूसरी बस में सवार हुए। भूरी कुशवाह और देवेंद्र कुशवाह बेहट उतर गए थे जबकि सिरसा के लोग मौ में उतर गए थे। मौ से अमायन मोड़ तक यह लोग पैदल आए थे। यहां पर परिवार के लोग ट्रैक्टर लेकर गांव से पहुंच गए थे। फिर यह दस लोग ट्रैक्टर से ही सिरसा गांव पहुंचे। आठ मई को पता लगा कि बेहट के दोनों लोग पॉजीटिव पाए गए हैं। इसके बाद दतिया जिला प्रशासन ने सक्रियता दिखाते हुए अहमदाबाद से सिरसा आए 10 लोगों को क्वारेंटाइन कर दिया। इसके अलावा अमायन मोड़ तक ट्रैक्टर लेकर गए चालक और ट्रैक्टर मालिक को भी क्वारेंटाइन कर दिया। इस तरह 12 लोगों के सैंपल भेजे गए थे। गुरुवार को इन सभी रिपोर्ट आ गई। इनमें से 16 वर्षीय राहुल कुशवाह पुत्र अर्जुन कुशवाह, 28 वर्षीय राहुल की मां शकुंतला पत्नी अर्जुन कुशवाह और 10 वर्षीय राज पुत्र मुकेश कुशवाह पॉजिटिव पाए गए हैं। शेष नौ लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

परिवार के सदस्य आए, टीम ने किया क्वारेंटाइन
12 मई को राजेश आंतरी पहुंचा। वहीं 13 मई को उसके पिता व अन्य तीन रिश्तेदार मुंबई से भलका (नौगांव) पहुंच गए। जहां ग्रामीणों द्वारा डॉक्टरों को फोन लगाया गया। ग्रामीणों का कहना है कि डॉक्टरों की टीम आई, स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद चारों लोगों को भलका गांव के ही अतिरिक्त कक्ष में क्वारेंटाइन कर दिया गया।

मुंबई में एक्सिस बैंक में काम करने वाला दतिया का युवक निकला कोरोना पॉजिटिव
मुंबई में एक्सिस बैंक में काम करने वाला दतिया के नौगांव भलका का युवक राजेश योगी कोरोना पॉजिटिव निकला है। गनीमत यह रही कि यह युवक दतिया तक पहुंच ही नहीं पाया था। यह युवक अपनी बुआ के यहां ग्वालियर के आंतरी में रुक गया था। इसलिए इस युवक के साथ उसका आंतरी निवासी फुफेरा भाई रामजीलाल भी कोरोना पॉजिटिव निकला है। दोनों को आंतरी के एक छात्रावास में क्वारेंटाइन किया गया है। इसी छात्रावास में इनके साथ रामजीलाल का पुत्र एवं उसके छोटे भाई को भी क्वारेंटाइन कर दिया था। इससे उन दोनों को भी संक्रमण का खतरा बढ़ गया है।

आंतरी के छात्रावास में क्वारेंटाइन कर दिया था
बता दें कि भलका में रहने वाला राजेश अपने परिवार व आंतरी में रहने वाले रिश्तेदारों के साथ मुंबई में रहता था। 12 मई को राजेश अपने फुफेरे भाई रामजीलाल के साथ उनके घर आंतरी पहुंचा। परिवार के लोगों के साथ वह आंतरी अस्पताल गया, जहां से उसे ग्वालियर के माधव डिस्पेंसरी ले जाया गया। रामजीलाल ने बताया कि यहां डॉक्टरों ने दोनों के सैंपल लेकर 14 दिन के लिए आंतरी के छात्रावास में क्वारेंटाइन कर दिया था। जिससे वह सीधे अपने घर पर गए। घर के ऊपर वाले कमरे में एक रात रूके, अगले दिन बुधवार को नगर पंचायत के लोगों ने दोनों को छात्रावास में क्वारेंटाइन कर दिया। हालांकि इस दौरान रामजीलाल का छोटा भाई भी मुंबई से लौट आया, जिसके बाद उसे भी इसी छात्रावास में क्वारेंटाइन कर दिया गया। फिलहाल उसकी रिपोर्ट नहीं आई है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here