Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाराणसी35 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
लॉकडाउन के समय श्रीकाशी विश्वनाथ अन्नक्षेत्र द्वारा हजारों लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया था। - Dainik Bhaskar

लॉकडाउन के समय श्रीकाशी विश्वनाथ अन्नक्षेत्र द्वारा हजारों लोगों को भोजन उपलब्ध कराया गया था।

  • महा प्रसाद पाने के लिए बाबा के भक्तों को दोपहर 1 से 3 बजे के बीच आना होगा
  • शिव की रसोई में 12 से 14 लोग लगातार बाबा का प्रसाद बनाने में जुटे रहते हैं

श्री काशी विश्वनाथ न्यास अन्नक्षेत्र में आने वाले भक्तों को बुधवार को शिव की रसोई के रूप में सौगात मिला। रंगभरी एकादशी के दिन धर्मार्थ कार्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने विधि विधान से पूजन कर इसकी शुरुआत की। नीलकंठ तिवारी ने अपने हाथों से भक्तों को प्रसाद भी परोसा। 13 करोड़ 10 लाख की लागत से बने शिव की रसोई में अभी 500 लोगो को प्रसाद खिलाया जाएगा।

जी प्लस फाइव इमारत सेंट्रलाइज AC युक्त हैं

पांचवें फ्लोर पर शिव की रसोई बनाया गया हैं। बाकी सभी फ्लोर पर हाल में भक्तों को भोजन कराया जायेगा। जो भक्त अन्नक्षेत्र के लिए 11 हजार रुपये का कूपन कटाएगा उसे बाबा विश्वनाथ के यहां सुगम दर्शन और परिवार संग आरती में शामिल होने का मौका मिलेगा। मंत्री नीलकंठ तिवारी ने बताया आगे भक्तों के सहयोग से रात्रि में भी प्रसाद की व्यवस्था की जायेगी।

धर्मार्थ कार्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने फीता काटकर शुरुआत किया और अपने हाथों से भक्तों को प्रसाद दिया।

धर्मार्थ कार्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने फीता काटकर शुरुआत किया और अपने हाथों से भक्तों को प्रसाद दिया।

11 प्रकार का व्यंजन बाबा को भोग लगाकर प्रसाद खिलाया गया

तमिलनाडू की एक संस्था अभी शिव की रसोई का कार्य देख रही हैं। आज चावल, खीर, पापड़, दो तरह की सब्जी, दाल का भोग लगाया गया। कोई भी पर्यटक, दर्शनार्थी गोदौलिया से सीधे दशाश्वमेध मार्ग की ओर करीब 300 मीटर बढ़ेगा तो बाए हाथ मे अन्नक्षेत्र मिलेगा। जहा निशुल्क प्रसाद मिलेगा।

11 तरह का व्यंजन भोग में लगा।

11 तरह का व्यंजन भोग में लगा।

घर पर पड़े फंक्शन में बाबा से जुड़ने का मौक़ा

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि PM मोदी द्वारा फरवरी 2020 में इसका लोकार्पण किया गया था। कोविड के चलते लॉकडाउन में पैकेट में हजारो लोगो तक खाना पहुंचाया गया था। आज फिर से विधिवत शुरुआत किया गया है। किसी के परिवार में जन्मदिन, विवाह, शादी की सालगिरह पड़ने पर वो हेल्प डेस्क पर 11 हजार का कूपन कटा कर प्रसाद वितरण कर सकता हैं। परिवार के सदस्य खुद आकर भक्तों को अपने हाथों से प्रसाद भी खिला सकते हैं।

शिव की रसोई में सब्जी काटते सेवादार।

शिव की रसोई में सब्जी काटते सेवादार।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here