• सीआईडी डीएसपी अनिमेष के नेतृत्व में टीम पहुंची सरायकेला, दो घंटे तक फाइलों की जांच-पड़ताल की

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 09:21 PM IST

सरायकेला. को-ऑपरेटिव बैंक की सरायकेला शाखा से 33 करोड़ रुपए घोटाले मामले में सीआईडी ने तत्कालीन ब्रांच मैनेजर सुनील कुमार सतपथी को पूछताछ के लिए दो दिन की रिमांड पर लिया है। सुनील कुमार सिंह को सीआईडी द्वारा 22 मई को गिरफ्तार किया गया था। उन पर 33 करोड़ रुपए कार लोन देने और लोन की रिकवरी के लिए बैंक की ओर से कोई प्रयास नहीं करने का आरोप है। इस मामले में सीआईडी (कोल्हान) के डीएसपी अनिमेष कुमार गुप्ता के नेतृत्व में टीम सोमवार को बैंक शाखा पहुंची। करीब 2 घंटे तक बैंक के विभिन्न कागजातों की जांच की गई। 

पिछले साल हुई थी प्राथमिकी दर्ज 
22 अगस्त 2019 को सरायकेला थाने में 38 करोड़ रुपए घोटाले की प्राथमिकी दर्ज की गई थी। प्राथमिकी के अनुसार बैंक से कुल 38 करोड़ रुपए लोन दिए गए थे। इसमें 33 करोड़ का लोन कारोबारी संजय कुमार डालमिया द्वारा लिया गया था। अन्य 4 करोड का लोन अन्य लोगों ने लिया था। लोन लेने वालों ने बैंक को पैसा नहीं लौटाया। इसके बाद पूरी मामले की जांच हुई। जांच के बाद सरायकेला के शाखा प्रबंधक सुनील कुमार सतपति, सहायक मदन लाल प्रजापति, तत्कालीन मैनेजर वीरेंद्र कुमार, क्षेत्रीय कार्यालय चाईबासा में पदस्थापित एजीएम, तत्कालीन लेखाकार शंकर बंदोपाध्याय ,चाईबासा क्षेत्रीय कार्यालय के तत्कालीन एमडी मनोजनाथ शाहदेव, तत्कालीन एजीएम मुख्यालय संदीप सेन, सीईओ बृजेश्वर नाथ और संजय कुमार डालमिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

कोल्हान सीआईडी डीएसपी अनिमेष कुमार ने बताया कि घोटाला मामले में शाखा प्रबंधक सुनील कुमार सतपति और कारोबारी संजय डालमिया का नाम सामने आया है। मामले में और भी आरोपी हैं। इस मामले में अन्य आरोपियों की क्या भूमिका है, इस पर गहन जांच की जा रही है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here