• सफाई कामगारों को अंदर अंधेरे में उतरकर निकालना पड़ रहा मलबा, सुरक्षा के संसाधन भी नहीं दिए

दैनिक भास्कर

Jun 06, 2020, 07:03 AM IST

नीमच. बारिश के पहले नगर पालिका प्रशासन ने शहर के नालों की सफाई शुरू करवा दी। मुख्य मार्गों पर दुकानदारों द्वारा नाला-नाली पर अतिक्रमण कर किया पक्का निर्माण बाधा बन रहा है। कामगारों को सफाई में दिक्कत आ रही है। नपाधिकारी भी अतिक्रमण हटाने को लेकर गंभीर नहीं है। कामगारों को टफाॅर्म के नीचे उतरकर अंधेरे में नाले की सफाई करना पड़ रही है। इससे दुर्गंध से कभी बड़ा हादसा हाे सकता है। जबकि नपा इन नालों की जेसीबी द्वारा आसानी से सफाई कराई जा सकती है। 

शहर कोराेना संक्रमण से जंग लड़ रहा है।दूसरी तरफ बारिश शुरू होने वाली है। शहर के छोटे-बड़े नालों व नालियों की सफाई जरूरी है। अन्यथा बारिश में परेशानी होगी। नपा ने सफाई का कार्य देरी से शुरू किया। कर्मचारियों की कमी बनी हुई है, क्योंकि कई कर्मचारियों की ड्यूडी क्वारेंटाइन सेंटर सहित अन्य कार्यों में लगा रखी हैं। नपा ने 3 दल बनाकर अलग-अलग क्षेत्रों में बड़े नालों की सफाई शुरू करवाई। इसमें नाले-नालियों पर अतिक्रमण कर किए पक्के निर्माण सबसे बड़ी बांधा हैं।

पटेल प्लाजा के सामने वाली लाइन की नाली सफाई के दौरान तो कुछ लोगों ने विरोध भी किया, लेकिन आस-पड़ोसियों की सफाई के बाद लोग माने और सफाई हुई। प्राइवेट बस स्टैंड, टैगाेर मार्ग, आंबेडकर मार्ग पर नाला-नालियों की सफाई का काम चल रहा है।

विजय टॉकीज चौराहे से लगे क्षेत्र में बड़े नाले की सफाई 3 साल बाद हो रही है। हर साल दुकानदारों के दबाव के कारण औपचारिकता निभाई जाती है। इस बार 3 फीट चौड़ा और करीब 4 फीट गहरा नाला गंदगी व कीचड़ से पूरा भर गया। अधिकांश दुकानदारों ने नाले पर पक्के निर्माण कर रखे हैं। इससे कामगारों को सफाई करने में परेशानी हो रही है।

शुक्रवार को खुर्शीद टॉकीज परिसर से लगे बड़े नाले की सफाई हो रही थी। करीब 60 फीट लंबी नाले पर 40 फीट में पक्का निर्माण कर प्लेटफाॅर्म बने थे। जबकि शेष पर फर्शियां रखी थी। दुकानदार हटाने के लिए तैयार नहीं हुए। कर्मचारियों ही फर्शियां हटाकर सफाई शुरू की। पक्के प्लेटफाॅर्म नहीं तोड़ने के कारण कर्मचारियों को नीचे जाकर नालों की सफाई करना पड़ी। अभी आधे नाले की सफाई बाकी है।

दुकानदार चिंतित: बारिश में पिछले साल की स्थिति नहीं बन जाए
फव्वारा चौक पर पेट्राेल पंप से लेकर प्राइवेट बस स्टैंड तक नाले की सफाई बाकी है। हर साल बारिश में पानी जमा होने पर आसपास की दुकानों के अंदर तक पहुंच जाता है। सड़क से दुकानों की ऊंचाई कम होने के कारण संचालकों को इस परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस कारण नाले की सफाई जरूरी है। यहां टैगाेर मार्ग काॅर्नर से तिलक मार्ग कार्नर तक नालों पर दुकानदारों ने पक्का अतिक्रमण कर रखा है तो कई ने नाले पर दुकान सजा रखी है। नपाधिकारियों का कहना है 2-3 दिन में सफाई शुरू करेंगे। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here