• कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद हिंदपीढ़ी को सील करने का प्रशासन ने तीसरी बार लिया फैसला
  • विभिन्न स्थानों पर विरोध के बाद देर रात कोरोना संक्रमित शव को हिंदपीढ़ी कब्रिस्तान में किया गया दफन

दैनिक भास्कर

Apr 13, 2020, 09:03 PM IST

रांची. 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान सोमवार को 13वें दिन राजधानी रांची समेत आसपास के क्षेत्रों में सुबह सब्जी बाजारों में रोजाना की तरह ही भीड़ उमड़ पड़ी। हालांकि कई जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया तो कई स्थानों पर इसका बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया गया। रांची में कोरोना संक्रमित मरीजाें की अब तक संख्या 11 हो चुकी है, इनमें से एक की मौत भी हो चुकी है। इसके बाद प्रशासन ने हिंदपीढ़ी क्षेत्र काे तीसरी बार फिर 72 घंटे के लिए सील कर दिया है।

दिनभर विरोध, देर रात हिंदपीढ़ी में दफनाया शव
रविवार को कोरोना पीड़ित मरीज की मौत के बाद दिन भर शव को दफनाने को लेकर हंगामा चलता रहा। रातू रोड कब्रिस्तान और बरियातू जोड़ा तालाब कब्रिस्तान में इस शव को दफनाने का लोगों ने विरोध कर दिया। इसके बाद देर रात करीब डेढ़ बजे भारी सुरक्षा के बीच हिंदपीढ़ी के कब्रितस्तान में शव को दफनाया गया।

प्रशासन ने राशन पहुंचाया

इधर, हिंदपीढ़ी पूरी तरह से सील है। यहां प्रशासन ने 10 अप्रैल काे दूसरी बार हिंदपीढ़ी काे 72 घंटे के लिए सील किया था। उसकी अवधि रविवार काे समाप्त हाे गई थी। उधर, लाेगाें की परेशानी काे देखते हुए जिला प्रशासन ने पहली बार लाभुकों के घर पर डाेर स्टेप डिलीवरी कर राशन पहुंचाया। हिंदपीढ़ी क्षेत्र से जुड़े वार्ड नंबर 21, 22 और 23 के विभिन्न मुहल्लों में राशन पहुंचाया गया। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here