• राज्य के कई जिलों में पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद भी ट्रेसिंग की रफ्तार धीमी, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग का सबसे अच्छा काम पश्चिमी सिंहभूम में
  • पूरे राज्य में एक कोरोना मरीज पर मात्र 4.2 लोग की ही कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, रांची में प्रति कोरोना पॉजिटिव मरीज पर 14.1 मरीज की ट्रेसिंग

दैनिक भास्कर

Jun 24, 2020, 10:05 PM IST

रांची/धनबाद/जमशेदपुर. राज्य में बुधवार को 18 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। इनमें हजारीबाग के चार, रांची के एक, सरायकेला के एक, पलामू के एक, लोहरदगा के एक, खूंटी के दो, पूर्वी सिंहभूम के दो, धनबाद के पांच और देवघर के एक मरीज शामिल हैं। इसके साथ ही राज्य में अब तक मिले मरीजों की संख्या बढ़कर 2219 हो गई है। 18 नए मरीजों के साथ ही राज्य में अब एक्टिव मरीजों की संख्या 688 हो गई है। राज्य में अब मात्र दो जिले दुमका और पाकुड़ कोरोना मुक्त रह गए हैं। पहले सात जिले कोरोना मुक्त थे, लेकिन इनमें से पांच जिले बोकारो, देवघर, गोड्डा, खूंटी, साहेबगंज में मरीज मिलने के बाद ये जिले अब कोरोना मुक्त नहीं रह गए हैं। 

पिछले 24 घंटे में 55 मरीज ठीक होकर घर भी लौटे हैं। इसके साथ ही राज्य में रिकवरी रेट 71 फीसदी हो गई है। लॉकडाउन में प्रवासियों की घर वापसी के बाद राज्य में लगातार कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं। वहीं ठीक होने का आकंड़ा भी बढ़ा रहा है। राज्य में अब तक 1841 प्रवासियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

राज्य में प्रति 1000 सैंपल में मिल रहे 25 मरीज 
सप्ताह दर सप्ताह राज्य में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम हो रही है। आज से तीसर सप्ताह के पहले यानी 3-10 जून के बीच राज्य भर में सैंपलों की जांच में पॉजिटिव मिलने का प्रतिशत 3.11 था। उसके दूसरे सप्ताह (10-16 जून) के दौरान राज्य में 0.41 की कमी के साथ यह घटकर 2.7 हुआ। पिछले सप्ताह राज्य में मरीज मिलने का प्रतिशत 0.2 घटकर 2.7 की जगह 2.5 रह गया है। इस तरह दो सप्ताह पहले जहां राज्य में 1000 सैंपलों की जांच में 31 से अधिक व्यक्ति संक्रमित मिल रहे थे। अब 1000 सैंपलों की जांच में 25 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो रही है। संक्रमण घटने का परिणाम है कि राज्य की साप्ताहिक डबलिंग रेट भी काफी कम हो गया है। आईडीएसपी के स्टेट इंचार्ज डॉ राकेश दयाल के अनुसार वर्तमान साप्ताहिक ट्रेंड के हिसाब से राज्य में 24.22 दिनों में मरीज दुगना हो रहे हैं। 

पिछले 24 घंटे में 51 मरीज ठीक होकर घर भी लौटे हैं। इसके साथ ही राज्य में रिकवरी रेट 69.31 फीसदी हो गई है। लॉकडाउन में प्रवासियों की घर वापसी के बाद राज्य में लगातार कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं। वहीं ठीक होने का आकंड़ा भी बढ़ रहा है। राज्य में अब तक 1784 प्रवासियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है जबकि राज्य में कुल मरीजों के ठीक होने का आकंड़ा बढ़कर 1520 पहुंच गया है।

तस्वीर गढ़वा जिले के ग्रामीण इलाके की। परिवहन विभाग की ओर से टू-व्हीलर और फोर व्हीलर के लिए यात्रियों की संख्या को लेकर जारी निर्देश पर शहरों में पुलिस कार्रवाई तो कर रही है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में कार्रवाई नहीं हो पा रही है। इसका उदाहरण ये तस्वीर है। ग्रामीणों इलाकों में ऑटो ड्राइवर आठ से 10 यात्रियों को भरकर ले जाते हैं जो कोरोना संक्रमण को बढ़ावा दे सकता है।

प्रति पॉजिटिव मरीजों पर 4.2 लोगों की हो रही कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग-सैंपलिंग
राज्य में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की ‘कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग’ में चूक हो रही है। स्वास्थ्य विभाग और आईडीएसपी के आंकड़ों की माने तो कई जिलों में पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद भी ट्रेसिंग की रफ्तार धीमी है। कई जिलों में औसत स्तर पर भी ‘कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग’ नहीं की गई है। इससे कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा भी उत्पन्न हो सकता है। चतरा में 41 पॉजिटिव मरीज मिले, लेकिन ट्रेसिंग मात्र 22 लोगों की हुई। पूरे राज्य की बात करें तो एक कोरोना पॉजिटिव मरीज पर मात्र 4.2 लोग की ही कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की गई है। अब स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग नहीं करने वाले जिलों को आगाह किया है। कहा गया है कि इसमें तेजी लाएं। हालांकि कई जिलों में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग का काम अच्छे ढंग से किया गया है।

राजधानी रांची में प्रति कोरोना पॉजिटिव मरीज पर 14.1 मरीज की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की गई है। 203 कोरोना पॉजिटिव केस पर यहां 2783 कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की गई है। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग का सबसे अच्छा काम पश्चिमी सिंहभूम में किया गया है। एक मरीज पर 30 ट्रेसिंग की गई। 

तस्वीर रांची के मैकलुस्कीगंज की। यहां बिहार और उत्तर प्रदेश से लोगों के लौटने के बाद उन्हें होम क्वारैंटाइन किया गया है। साथ ही गांव में एएनएम और स्वास्थ्य कर्मियों के सहयोग से लगातार हेल्थ स्क्रीनिंग की जा रही है। थर्मल स्कैनर से तापमान भी रिकार्ड किया जा रहा है। सभी को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की सलाह भी दी जा रही है।

राज्य के सभी 24 जिलों में पहुंच चुका है कोरोना संक्रमण
कोरोनावायरस का संक्रमण राज्य के सभी 24 जिलों तक पहुंच चुका है। राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 2219 है। इनमें बोकारो के 36, चतरा के 43, देवघर के 33, धनबाद के 127, दुमका के चार, पूर्वी सिंहभूम के 346, गढ़वा के 97, गिरिडीह के 72, गोड्डा के 8, गुमला के 105, हजारीबाग के 174, जामताड़ा के 29, खूंटी के 25, कोडरमा के 166, लातेहार के 54, लोहरदगा के 53, पाकुड़ के 30, पलामू के 50, रामगढ़ के 120, रांची के 204, साहेबगंज के 5, सरायकेला के 37, सिमडेगा के 348 और पश्चिमी सिंहभूम के 57 मरीज शामिल हैं।

अब तक राज्य में 14 संक्रमितों की मौत
राज्यभर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 14 है। इनमें रांची के सात, बोकारो के दो जबकि गुमला, हजारीबाग, सिमडेगा, कोडरमा और गिरिडीह में एक-एक मरीज की मौत हो चुकी है। प्रशासन राज्य में रिटायर्ड डीडीसी और बंगाल के एक मजदूर की मौत को आंकड़े में शामिल नहीं किया है।

तस्वीर रामगढ़ की। जिले में अब तक 116 कोरोना संक्रमित मरीज मिले चुके हैं। इनमें से 88 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। मंगलवार को कुछ मरीजों के ठीक हो जाने के बाद उन्हें स्वास्थ्यकर्मियों ने घर भेजा। साथ ही होम क्वारैंटाइन के नियमों के पालन की सलाह दी गई।

राज्य में अब तक 1575 मरीज हो चुके हैं स्वस्थ
राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों में कुल 1575 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें बोकारो के 27, चतरा के 36, देवघर के 10, धनबाद के 109, दुमका के चार, पूर्वी सिंहभूम के 182, गढ़वा के 86, गिरिडीह के 51, गोड्डा के एक, गुमला के 68, हजारीबाग के 122, जामताड़ा के 20, खूंटी के 23, कोडरमा के 109, लातेहार के 48, लोहरदगा के 41, पाकुड़ के 30, पलामू के 45, रामगढ़ के 88, रांची के 148, सरायकेला के 29, साहेबगंज के तीन, सिमडेगा के 270 और पश्चिमी सिंहभूम के 47 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं।

राज्य में कुल संक्रमितों में 1841 प्रवासी
राज्य के कुल कोरोनावायरस संक्रमितों में 1841 लोग प्रवासी हैं। इनमें बोकारो के 18, चतरा के 38, देवघर के 28, धनबाद के 111, दुमका के चार, पूर्वी सिंहभूम के 254, गढ़वा के 90, गिरिडीह के 64, गोड्डा के 5, गुमला के 100, हजारीबाग के 159, जामताड़ा के 26, खूंटी के 23, कोडरमा के 164, लातेहार के 53, लोहरदगा के 49, पाकुड़ के 28, पलामू के 44, रामगढ़ के 116, रांची के 29, साहेबगंज के 4, सरायकेला के 34, सिमडेगा के 343 और पश्चिमी सिंहभूम के 57 प्रवासी शामिल हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here