• टूरिस्ट प्लेस में एंट्री से पहले थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी, पर्यटकों के हाथों को सैनिटाइज करवाया जाएगा
  • राजस्थान पुरातत्व एंव संग्राहलय विभाग अपने अधीन आने वाले 16 स्मारक और म्यूजियम को ही शुरू कर रहा है

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 10:50 PM IST

जयपुर. राजस्थान में मंगलवार से पूरे प्रदेश में राजकीय स्मारक और संग्रहालय को खोल दिया जाएगा। राजस्थान पुरातत्व एंव संग्राहलय विभाग ने ये निर्णय लिया है। ये संग्रहालय कोरोना संक्रमण व लॉकडाउन के चलते 18 मार्च को बंद किए गए थे। सोमवार को दिनभर अधिकांश पर्यटन स्थलों की साफ-सफाई हुई। सैनिटाइजेशन प्रोसेस भी पूरी की गई। हालांकि, फिलहाल राज्य में किलों को नहीं खोला जाएगा। इन्हें खोलने का निर्णय बाद में लिया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, हॉटस्पॉट और कंटेनमेंट एरिया को छोड़कर सभी जगह स्मारक और संग्रहालय खोले जाएंगे। इनमें पूरे राजस्थान में कुल 22 संग्रहालय खोले जाएंगे। वहीं 16 स्मारकों पर भी पर्यटकों को एंट्री दी जाएगी। जिसमें जयपुर में आमेर महल, अल्बर्ट हॉल, चित्तौड़गढ़ का फतेह प्रकाश म्यूजियम आदि शामिल हैं।

चित्तौड़गढ़ के फतेह प्रकाश म्यूजियम में भी सोमवार को तैयारी शुरू हो गई। यहां कलाकरों ने लोक नृत्य की रिहर्सल की।

ऐसी रहेगी तीन सप्ताह की तैयारी

  • पुरातत्व विभाग के डायरेक्टर प्रकाशचंद्र शर्मा के मुताबिक- शुरू होने वाले पहले सप्ताह में चार दिन (मंगलवार, गुरुवार, शनिवार व रविवार) को सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक स्मारक और संग्रहालय खुलेंगे।
  • दूसरे सप्ताह में चार दिन (मंगलवार, गुरुवार, शनिवार व रविवार) को सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक और दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक ये संग्रहालय पर्यटकों के लिए खोले जाएंगे।
  • शुरू के दो सप्ताह प्रवेश नि:शुल्क रहेगा। इसके बाद तीसरे सप्ताह से प्रवेश शुल्क में 50 प्रतिशत छूट के साथ पर्यटकों को प्रवेश दिया जाएगा।

क्या दिए गए दिशा-निर्देश

  • ऑनलाइन टिकट को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • स्मारकों और संग्रहालयों को खोलने से पहले साफ-सफाई की जाएगी। दिन और शाम में भी आवश्यक साफ-सफाई सुनिश्चित की जाएगी।
  • लोगों को टूरिस्ट प्लेस में एंट्री से पहले थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। साथ ही हाथों को सैनिटाइज करवाया जाएगा। बिना मास्क के किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
  • पर्यटन स्थलों पर एक समय में केवल 5-6 टूरिस्ट को प्रवेश करवाया जाएगा। लगभग पांच मिनट के अंतराल के बाद दूसरे समूह को प्रवेश दिया जाएगा। 
  • सुरक्षा गार्ड और ड्यूटी स्टाफ ये सुनिश्चित करेंगे कि पर्यटकों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे। पर्यटक किसी भी स्मारक या दीवारों को न छुएं।
जयपुर में जंतर-मंतर पर पर्यटकों के स्वागत के लिए नृत्य की व्यवस्था की गई।

म्यूजियम भले दो जून से खुल जाए पर फिलहाल पर्यटकों की आवक नाम मात्र रहनी है। इसकी खास वजह पुरातत्व विभाग द्वारा अभी किलों को पर्यटकों के लिए न खोलना। जब तक सभी स्मारक नहीं खुलेंगे। पर्यटकों का आकर्षित करना मुश्किल है। विदेशी पर्यटकों पर भी प्रतिबंध है। वहीं, देश में कोरोना का असर भी जारी है।

चित्तौड़गढ़ और आमेर में लाइट एंड साउंड अभी नहीं
चितौड़गढ़ के कुंभामहल में लाइट एंड साउंड शो भी अभी शुरू नहीं हो पाएगा। क्योंकि अभी शाम सात से सुबह सात बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू जारी है। राज्य सरकार की तरफ से अभी होटल संचालन की भी गाइडलाइन नहीं आई है। आमेर महल में चलने वाली हाथी सवारी और रात्री कालीन पर्यटन, लाइट एंड साउंड शो फिलहाल बंद रहेगा। इसके लिए अलग से आदेश जारी होंगे।

चित्तौड़गढ़ स्थित फतेह प्रकाश म्यूजियम को सैनिटाइज किया गया।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here