• लूट के दौरान चालक का मोबाइल नहीं छीना जाना बना पुलिस के शक का कारण, ड्राइवर ही निकला मास्टरमाइंड

दैनिक भास्कर

Jun 22, 2020, 08:24 PM IST

जामताड़ा. नेशनल हाइवे-419 पर मिहिजाम थाना क्षेत्र के बोदमा गांव के पास ट्रक चालक से पांच लाख रुपए के लूट मामले का पुलिस ने खुलासा कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियो को गिरफ्तार किया है। साथ ही उनके पास से 2 लाख 40 हजार रुपए बरामद किए गए हैं। एसपी अंशुमन कुमार ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि 16-17 जून की रात को चितरा से कोलकाता जा रहे एक ट्रक के ड्राइवर से पांच लाख की लूट की घटना घटी थी। चालक द्वारा इसकी शिकायत मिहिजाम थाना में दर्ज कराया गया था।

घटना के बाद पुलिस अनुसंधान में जुट गई और जब चालक तथा क्लिनर से पूछताछ की गई तो दोनों ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। जिसके बाद सख्ती से पूछताछ करने पर दोनों ने अपना जुर्म  कबूल किया। इस लूटकांड में शामिल चालक सहित कुल 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उनके पास से 2 लाख 40 हजार बरामद किए गए हैं। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम वसीम अंसारी, सज्जाद अंसारी तथा जफरुल अंसारी है। ये तीनों देवघर जिले के नवखेता गांव के रहने वाले हैं।अन्य तीन आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है।

जानकारी के अनुसार, मिहिजाम थाना के बोदमा के पास कोयला व्यवसायी रामकिशोर भोक्ता के ट्रक से हुई लूट हुई थी। मामले के खुलासे के लिए एसपी अंशुमान कुमार के निर्देश पर गठित टीम ने मिहिजाम व देवघर के सारवां थाना के नवखेता गांव में छापेमारी कर लूट में शामिल तीन अपराधियों को न सिर्फ दबोचा, बल्कि लूटे गए रुपए में से 2.40 लाख रुपए भी बरामद किए। इस घटना को ट्रक चालक और क्लिनर की मिलीभगत से अंजाम दिया गया था। कुल छह अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया था।

एसपी ने बताया कि ट्रक चालक वसीम ही इस घटना में मास्टरमाइंड की भूमिका में था। बताया गया कि कोयला व्यवसायी रामकिशोर भोक्ता का ट्रक बराबर कोलकाता जाता था। भोक्ता चालक के हाथों ही भुगतान भेजा करता था। दर्ज प्राथमिकी में चालक ने पुलिस को बताया कि बोदमा के पास अपराधियों ने ट्रक रुकवाया और पांच लाख रुपए लूट लिए। उधर, पुलिस घटना की जानकारी के बाद से काफी सक्रिय हो गई। वाहन के मालिकों से पूछताछ की गई और जानकारी ली गई। सूत्र बताते हैं कि चालक 5 लाख रुपए के अलावे ट्रक को भी कोलकाता में बेच देना चाहता था। इसलिए उसने यह साजिश रची थी। 

इस मामले का पता चलते ही पुलिस ने ट्रक के मालिक को आगाह किया। मालिक ने अपनी सक्रियता बढ़ाई तो ट्रक को कोलकाता से वापस मंगवाया। इसी दौरान पुलिस ने मुख्य अभियुक्त व एक अन्य को मिहिजाम थाना क्षेत्र के कानगोई फाटक के पास से गिरफ्तार कर लिया। जबकि एक अन्य को उसके घर से गिरफ्तार किया गया।

बताया जाता है कि लूट कांड का मुख्य अभियुक्त ट्रक के मालिक के घर पिछले 9 साल से अधिक समय से चालक का काम करता था। पुलिस को चालक के व्यवहार पर शुरु से ही शक हो गया था। घटना के बाद से चालक ने अपने मोबाइल के गुम होने की बात या छीने जाने की बात पुलिस को नहीं बतायी थी। इसी बात को आधार बनाकर पुलिस ने जांच शुरू की। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here