• समय से पहले आएगा मानसून; 16 काे चक्रवाती तूफान अम्फान की चेतावनी 
  • उत्तर भारत में आज और कल बारिश की संभावना 

दैनिक भास्कर

May 14, 2020, 05:11 AM IST

नई दिल्ली. इस साल दक्षिण-पश्चिम मानसून समय से पहले अा सकता है। मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्वी क्षेत्र और उससे सटे दक्षिण अंडमान सागर में बुधवार सुबह निम्न दबाव के दाे क्षेत्र बने हैं। इनसे 16 मई की शाम को चक्रवाती तूफान आने की संभावना है। इस तूफान का नाम अम्फान होगा। माैसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि यदि यह तूफान विकसित हुआ तो पहले 17 मई को उत्तर और उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा और फिर इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है। अगले 48 घंटे में और सटीक अनुमान लग सकेगा कि चक्रवात की दिशा क्या होगी। माैसम िवभाग के अनुसार यह चक्रवात मानसून की प्रगति में मदद करेगा। यानी चक्रवात के असर से अंडमान सागर और अंडमान, निकोबार द्वीप समूह में मानसून इस बार जल्दी आ सकता है। स्काईमेट के मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने बताया कि अम्फान इस साल का पहला चक्रवाती तूफान होगा। इससे अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में 15-16 मई को कई स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं। दक्षिण व केंद्रीय बंगाल की खाड़ी में 15 मई को 55 से 65 किमी, 16 मई को 75 किमी प्रति घंटा की गति से हवाएं चलने का अनुमान है।

पंजाब, हरियाणा और राजस्थान समेत 12 राज्यों में बारिश के आसार

माैसम विभाग के अनुसार गुरुवार और शुक्रवार काे केरल, तमिलनाडु, पुद्दुचेरी और दक्षिण कर्नाटक और लक्षद्वीप में तेजी बारिश हाे सकती है। वहीं उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है। इससे जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के साथ पंजाब, हरियाणा, उत्तरी राजस्थान तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश कई स्थानाें पर तेज हवाओं के साथ बारिश के आसार हैं। इस दाैरान 70 किमी प्रति घंटे की गति से हवाएं चलेंगी। मौसम विभाग ने अगले दाे दिनाें के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसमें मौसम खराब होने की चेतावनी दी जाती है।

महाराष्ट्र, मप्र में मानसून सामान्य से तीन से सात दिन देरी से पहुंचेगा

माैसम विभाग के अनुसार महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में मानसून के पहुंचने में सामान्य तारीख से तीन से सात दिन की देरी हाे सकती है। 

केरल में एक जून काे पहुंचेगा

माैसम विभाग ने 1960-2019 के आंकड़ों के आधार पर देश के कई हिस्सों के लिए मानसून की शुरुआत और वापसी की तारीखों में बदलाव किया है। पिछली तारीखें 1901 से 1940 के आंकड़ों पर आधारित थीं। इस संशाेधन के अनुसार इस बार केरल में मानसून की शुरुआत 1 जून से हाेगी। दिल्ली में 23 जून से 27 जून, मुंबई और कोलकाता में 10 से 11 जून और चेन्नई में 1 से 4 जून तक मानसून के अाने की तारीख घाेषित की गई है। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here