• लोगों को इमरजेंसी में किसी प्रकार की दिक्कत न हो इसके लिए प्रशासन ने शुरू की सेवा…

दैनिक भास्कर

Apr 25, 2020, 07:24 AM IST

मोहाली. पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद होने के चलते जिन लोगों के पास अपने पर्सनल वाहन नहीं हैं उन्हें इमरजेंसी की स्थिति में कहीं आने-जाने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।    इस समस्या को दूर करने के लिए डीसी मोहाली गरीश दयालन की ओर से ऊबर इंडिया के साथ जो कांट्रेक्ट किया है उसके तहत यह भी सुनिश्चित किया है कि जिन लोगों के पास अपना कोई ट्रांसपोर्ट नहीं है वो लोग ऊबर मैडिक के तहत दी गई 20 कैब का इस्तेमाल अपने घर से किसी सरकारी अस्पताल आने-जाने के लिए कर सकते हैं। डीसी ने बताया कि इसके लिए कंट्रोल रूम तैयार किया गया है। ऊबर मेडीकल सेहत सुविधा के लिए जिला प्रशासन को अगल से 20 वाहन देगा जो कि सिविल सर्जन, एसडीएम, सीएचसी आदि के इस्तेमाल के लिए रखे जाएगे। इसके अलावा इन वाहनों की सेवा लेने के लिए सेहत कंट्रोल रूम नंबर  0172-2270091/7814641397 भी जारी किए गए हैं। इसके अलावा इन वाहनों की सेवा लेने के लिए लोग संबंधित एसएमओ, एमओ इंचार्ज  को भी आग्रह किया जा सकता है। जिसके बाद मरीजों को घर से लाने-ले जाने के लिए वाहनों का इस्तेमाल किया जा सकता है। यह सुविधा जिले के अधिकार क्षेत्र में ही होगी जिले से बाहर जाने के लिए वाहन को परमिशन नहीं होगी। 
सभी चालकों का होगा चेकअप, गाड़ियां होंगी सेनेटाइज…हालाकि प्रशासन की ओर से लोगों की मेडीकल इमरजेंसी को देखते हुए कैब सर्विस में राहत दी है, लेकिन इसका भी पूरा ध्यान रखा जाएगा कि कहीं कोरोना के संक्रमण ना बढ़ जाए। इसको लेकर डीसी की ओर से निर्देश दिए गए हैं कि जो 24 कैब लोगों की असेंशियल सर्विस के लिए भी सड़कों पर वाहन चलाएंगे उनके चालकों का रोजाना हैल्थ चेकअप किया जाएगा और साथ ही उनकी गाड़ियां भी रोजाना सेनेटाइज करवाई जाएंगी क्योंकि उन गाड़ियों में रोजाना कई अलग-अलग लोग बैठेंगे। इसलिए ऐसे वाहनों को सेनेटाइज करवाना काफी जरूरी है।

कर्फ्यू पास की नहीं होगी जरूरत…डीसी मोहाली की ओर से जानकारी देते हुए बताया कि इन ऊबर कैब में ट्रैवल करने वालों को किसी प्रकार का कोई कर्फ्यू पास की जरूरत नहीं होगी। इसके अलावा कुछ शर्तें रखी गई हैं, जिसमें कहा गया है कि कैब में चालक के अलावा केवल दो लोग ही ट्रैवल कर पाएंगे। इतना ही नहीं कैब सिर्फ किसी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल, किसी मेडिकल क्लीनिक या फॉर्मेसी शॉप तक जाने के लिए ही बुक की जा सकेगी। इतना ही नहीं जब ड्राइवर पैसेंजर्स को लेकर जाएगा तो वो पेसेंजर को घर से पिक करके सीधा अस्पताल या फॉर्मेसी शॉप पर जाएगा और वहां से काम खत्म होने पर सीधा वापस घर लाकर छोड़ेगा, जबकि रास्ते में किसी अन्य निजी काम के लिए रूकने की कोई अनुमति नहीं होगी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here