Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

18 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
Know how healthy you can be through 6 self-tests | 6 सेल्फ टेस्ट से जानिए आप कितने सेहतमंद, छोटे टेस्ट आपको कुछ संभावित बीमारियों के प्रति करेंगे आगाह

आप वाकई सेहतमंद हैं और कितने सेहतमंद हैं? इन सवालों के जवाब से आप घर बैठे ही इन छह टेस्ट के जरिए जान सकते हैं। सिर्फ एक-एक मिनट के यह छोटे टेस्ट आपको कुछ संभावित बीमारियों के प्रति आगाह कर सकते हैं। ताकि समय रहते एक्सपर्ट डॉक्टर से सलाह ले सकें-

1) क्रॉस लेग स्क्वाट, लंबी उम्र के लिए
ब्राजील के चिकित्सक क्लाउडियो गिल अरूजो ने यह टेस्ट तैयार किया है। अपने पैरों को पैरों से क्रॉस करें और फर्श पर बैठ जाएं। फिर वापस उठें। यदि जमीन पर हाथ टिकाए बिना, डगमगाए बिना खड़े हो जाते हैं तो आपकी मांसपेशियों में ताकत है, आपके शरीर में संतुलन, लचीलापन और चपलता है। आप मोटे ताैर पर स्वस्थ हैं और लंबा जीवन जीएंगे।

2) स्टेअर टेस्ट – हार्ट की सेहत के लिए

यूरोपीय साइंटिफिक सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी के अनुसार अगर आप एक मिनट में 4 मंजिला सीढ़ियां चढ़ जाते हैं तो हार्ट स्वस्थ है। अगर डेढ़ मिनट या उससे ज्यादा समय लगता है तो डॉक्टरी सलाह की जरूरत है।

3) विंडाे टेस्ट – आंखों के लिए

कमरे में दूर बैठकर दायीं आंख बंद करके दरवाजे या खिड़की की पूरी फ्रेम को 30 सेकंड तक देखना है। इसके बाद बायीं आंख बंद करके खिड़की और दरवाजे की फ्रेम को 30 सेकंड तक देखना है। अगर दोनों आंखों की दृष्टि में कोई अंतर आता है, धुंधला, अस्पष्ट दिखाई देता है तो यह आंखों की डॉक्टरी जांच का समय है।

5) पेपर टेस्ट – थायराइड की जांच के लिए

अपना एक हाथ सामने की ओर फैलाएं। हथेली को नीचे की ओर करें। इस पर एक कागज का टुकड़ा रखें। अगर कागज हिलता है या कांपता हुआ नजर आता है तो यह थायराइड से जुड़ी समस्या के लक्षण हो सकते हैं। हाथों का कांपना आमताैर पर दिखाई नहीं देता है, लेकिन जब इस पर कागज रख दिया जाता है तो आसानी से हाथ का कंपन नोटिस किया जा सकता है। यह भी ध्यान रखें कि थोड़ा कंपन सामान्य है, इसका कारण अस्थमा की दवा, चिंता या लो ब्लड शुगर भी हो सकता है।

4) चेअर टेस्ट – साइटिका के लिए

अगर पीठ में लंबे समय से दर्द है और पेनकिलर से दर्द दूर नहीं हो रहा है तो यह टेस्ट कीजिए। एक कुर्सी पर सीधे बैठकर एक पैर काे 90 डिग्री ऊपर उठाइए। ऐसा करने पर अगर घुटनों, हिप या पैर में दर्द होता है तो यह साइटिक नर्व की समस्या हो सकती है।

6) क्लॉक टेस्ट – डिमेंशिया के लिए

जिसका टेस्ट करना है उसे एक कागज देकर ये 4 इंस्ट्रक्शन दीजिए-

1) इस पर एक घड़ी बनाइए।
2) उसमें सारे नंबर लिखिए।
3) घड़ी के दोनों कांटे बनाइए।
4) 11:10 का समय अंकित करते हुए दो और कांटे बनाइए।

चारों इंस्ट्रक्शन के लिए एक-एक पॉइंट है। अगर चारों पॉइंट पर काम ठीक से न हो पाए तो यह डिमेंशिया या अल्जाइमर के लक्षण हो सकते हैं। इस टेस्ट से याददाश्त, समस्या के समाधान और प्लानिंग करने की क्षमता का आंकलन किया जाता है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here