• जिले में अब तक वायरस ने 78 लोगों को चपेट में लिया, 3 की मौत, 66 मरीज ठीक होकर घर लौटे
  • दो संक्रमितों की छुट्‌टी के बाद व्यापारियों ने कंटेनमेंट जोन के बाहर व्यापार खोलने की मांग की

दैनिक भास्कर

Jun 20, 2020, 02:57 PM IST

बड़वानी. बड़वानी में शनिवार काे काेराेना मरीजाें की संख्या में इजाफा हुआ। वहीं, पांच मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट गए। नए मरीजों में 24 और 31 साल के युवक शामिल हैं, जो राजपुर के रहने वाले हैं। जिले में अब तक 78 केस मिल चुके हैं। 66 लोग स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। अब तक तीन मरीजों की जान गई है। इससे पहले शुक्रवार को बड़वानी आइसोलेशन वार्ड से 5 और इंदौर के अस्पताल से 3 लोगों की छुट्‌टी हुई। इसमें सेंधवा के 3, बड़वानी के 2, पीपरी जिला खरगोन के 2 और राजपुर की एक मरीज शामिल हैं। शनिवार को सेंधवा के तीन और बड़वानी के दो मरीज घर लौटे।

बड़वानी के आशाग्राम के आइसोलेशन वार्ड से शनिवार को सेंधवा के अमजद खान, जय सेन और हिना शेख तो बड़वानी की श्रद्धा विश्वकर्मा और खुशबू पुरोहित को डिस्चार्ज किया गया। इससे पहले, शुक्रवार को बड़वानी की हसीना अब्दुल सलीम, जीएस मंडलोई, राजपुर के अनिल दामोदर को बड़वानी के आइसोलेशन वार्ड से छुट्‌टी मिली। सेंधवा के विजय जोशी, अजय झंवर व निगार खान को इंदौर के अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। वहीं, बड़वानी के आइसोलेशन वार्ड से खरगोन जिले के ग्राम पीपरी निवासी गफ्फार खान और विशाखा अजय को छुटटी दी गई। सीएमएचओ डॉ. अनीता सिंगारे ने बताया कि अब 14 संक्रमितों का इलाज जारी है।

दो संक्रमितों की छुट्‌टी, कंटेनमेंट जोन के बाहर व्यापार खोलने की मांग
आशाग्राम के आइसोलेशन वार्ड से दो संक्रमितों की छुट्‌टी के बाद व्यापारियों ने कंटेनमेंट जोन के बाहर व्यापार खोलने की मांग की है। वहीं, बीएमओ डॉ. आरएस मुजाल्दे ने बताया 3 दिन पहले ठीकरी में बाहर से आए 3 लोगों के सैंपल लेकर भेजे थे। शुक्रवार को उनकी रिपोर्ट भी निगेटिव आ गई है। अब मात्र 2 ही केस बचे हैं, जिनकी रिपोर्ट आना बाकी है। इसके चलते लोगों ने कंटेनमेंट जोन और इससे बाहर व्यापार शुरू करने की मांग की है। कंटेनमेंट जोन ठीकरी-बड़वानी मुख्य मार्ग पर है। अभी परिवर्तित मार्ग से आवागमन हो रहा है। इससे लोगों को आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, साप्ताहिक हाट बाजार का दिन होने के बाद भी बाजार में दुकानें बंद रही। हाट बाजार में 10 से 15 गांव के लोग आते हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here