Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रांची8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
DC छवि रंजन ने अस्पताल प्रबंधन से 24 घंटे के भीतर जवाब देने के लिए कहा है। जवाब नहीं मिलने पर कार्रवाई होगी। (फाइल) - Dainik Bhaskar

DC छवि रंजन ने अस्पताल प्रबंधन से 24 घंटे के भीतर जवाब देने के लिए कहा है। जवाब नहीं मिलने पर कार्रवाई होगी। (फाइल)

कोरोना की इस महामारी में लोग जहां कतरा-कतरा सांस के लिए परेशान हैं। वहीं दूसरी तरफ कई संस्थान ऐसे हैं जो इस घड़ी में भी लोगों को लूटने में लगे हैं। रांची के कांके स्थित आयुष्मान नर्सिंह होम ने सरकारी निर्देशों को ताक पर पर रखकर 48 घंटे में 90 हजार रुपए वसूल लिए हैं।

इसकी शिकायत मिलने के बाद DC छवि रंजन द्वारा इस संबंध में आयुष्मान नर्सिंग होम को शोकॉज जारी किया है। उनसे 24 घंटे के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया है कि क्यों ने उनके हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द कर दिया जाए। आदेश दिया गया है।

क्या थी शिकायत

आयुष्मान नर्सिंग होम, अरसंडे द्वारा बुकरू, कांके की रहने वाली सुमित्रा देवी ने इसकी शिकायत की थी। उन्होने कहा था कि कोरोना संक्रमित होने पर वह अस्पताल में एडमिट हुईं थी। 48 घंटे के इलाज के दौरान उनसे 55 हजार रुपए चिकित्सीय इलाज के नाम पर और लगभग 35 हजार रुपए दवा के नाम पर अस्पताल प्रबंधन की तरफ से वसूला गया । राशि नहीं देने पर मरीज का इलाज नहीं करने की भी धमकी दी गई थी।

मजिस्ट्रेट ने जांच में सही पाए आरोप

शिकायत मिलने पर उपायुक्त रांची श्री छवि रंजन के निर्देशानुसार कार्यपालक दंडाधिकारी श्वेता वेद मामले की जांच की। जिसमें सरकार के स्तर से कोविड-19 के इलाज हेतु निर्गत दर से 62,440 अधिक भुगतान के बात सामने आई। जांच के क्रम में मरीज के परिजन द्वारा बताया गया कि डॉक्टर द्वारा पैसे जमा नहीं करने पर इलाज नहीं करने की धमकी भी दी गई थी।अस्पताल प्रबंधन ने अपने पक्ष में मरीज के परिजन से प्रशस्ति पत्र भी लिखवा लिया कि मरीज का समुचित देखभाल किया गया।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here