Jaipur News In Hindi : rajasthan coronavirus patients 33 percent elders having diabetes or heart disease self-isolation | 168 पॉजिटिव में 33% बुजुर्ग; डायबिटीज या दिल की बीमारी है तो सेल्फ इसोलेशन में दवा-व्यायाम से कोरोना को हराएं

0
73
Jaipur News In Hindi : rajasthan coronavirus patients 33 percent elders having diabetes or heart disease self-isolation | 168 पॉजिटिव में 33% बुजुर्ग; डायबिटीज या दिल की बीमारी है तो सेल्फ इसोलेशन में दवा-व्यायाम से कोरोना को हराएं


  • हमारे दादी-दादाओं, हमें आपकी सबसे ज्यादा जरूरत, इसलिए रखिए अपना खास ख्याल
  • चीन और अमेरिका में कोरोना के घातक मामलों के 80% शिकार बुजुर्ग हुए हैं

दैनिक भास्कर

Apr 04, 2020, 01:12 AM IST

जयपुर. कोरोनावायरस का सबसे आसान शिकार हैं- बुजुर्ग। क्योंकि सीडीसी का डेटा बताता है कि चीन और अमेरिका में कोरोना के घातक मामलों के 80% शिकार बुजुर्ग ही हुए हैं। प्रदेश में भी अब तक कोरोना से कुल तीन मौतें हुई हैं और तीनों ही बुजुर्ग थे। राजस्थान में कुल आबादी का 7.5  फीसदी हिस्सा 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के बुजुर्गों का है। यानी प्रदेश में बुजुर्गों की संख्या 50 लाख से भी ज्यादा है। 

कई शोध में पाया गया है कि अस्थमा, डायबिटीज और दिल की बीमारियाें के मामलों में कोविड-19 और भी हावी हो जाता है। डॉक्टर्स का मानना है कि कैंसर के मरीजों के लिए भी कोरोना बहुत घातक है। मौजूदा परिदृश्य में 60 की पार की उम्र में ये सभी रोग जीवनशैली का हिस्सा बन चुके हैं। ऐसे में बहुत जरूरी है कि अपने बुजुर्गाें का खास ख्याल रखा जाए। 50 लाख से ज्यादा बुजुर्ग हैं प्रदेश में : 7.5 फीसदी हिस्सा कुल आबादी का 60 वर्ष या इससे अधिक उम्र के लोगों का प्रदेश 60 से 64 वर्ष की आयु में मृत्यु दर 1.5 फीसदी है, जो राष्ट्रीय औसत से कहीं कम।

गुजारिश है कि…कुछ दिन बच्चों और बाहरी लोगों से दूरी रखें

अस्थमा, हाइपर टेंशन, डायबिटीज, दिल की बीमारी और कैंसर से पीड़ित दादा-दादियों से विनती है कि वे खुद का ज्यादा ख्याल रखें। ताकि खुद को और परिवार को भी सुरक्षित रखें।

आप ये कर सकते हैं…

  • अगले दो-तीन महीने के लिए सेल्फ आइसोलेशन का अभ्यास करें। (हम जानते हैं कि इस उम्र में अकेलापन एक बड़ी समस्या है लेकिन इस वक्त सोशल डिस्टेंसिंग ज्यादा जरूरी है।)
  • बच्चों से भी खुद को कुछ दिन दूर रखिए। (यह कतई आपको अकेला करने के लिए नहीं है, पर आपके स्वास्थ्य के लिए सबसे जरूरी है।) 
  • सेहतमंद भोजन व व्यायाम करें। दवाइयां समय पर लें। घर के कामों का जिम्मा युवाओं को दें। (परिवारों से भी अपील है कि बुजुर्गों से संवाद बनाए रखें, उनका खास ख्याल रखें।)

अभी ऐसा न करें

  • सुबह-शाम टहलने के लिए पार्क या घर के बाहर न निकलें। (आपके लिए ये काफी मुश्किल है लेकिन इस वक्त ऐसा करना न सिर्फ आपको बल्कि आसपास के लोगों को भी महफूज रख सकता है।)
  • अगर आपको सर्दी, बुखार या खांसी जैसे लक्षण नजर आएं तो उसे नजरअंदाज न करें। (हो सकता है कि ये लक्षण आपको आम दिनों में भी परेशान करते हों लेकिन इस समय सतर्कता जरूरी) 
  • रेगुलर चेकअप के लिए फिलहाल अस्पताल जाने से बचें। जहां तक संभव हो फोन से अपने डॉक्टर के संपर्क में रहें। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here