• इससे पहले लॉकडाउन-4 के 14 दिन में 87 मरीज मिले थे, इनमें 17 रिपीट पॉजिटिव मिले

दैनिक भास्कर

Jun 08, 2020, 10:15 AM IST

ग्वालियर. ये आंकड़े हैरान करने वाले हैं। अनलॉक-1 के पहले दिन से ग्वालियर में जैसे-जैसे बाहर से आने वालों की संख्या बढ़ती गई, कोरोना के संक्रमण ने भी पैर पसारे। पिछले सात दिन में ही जिले में 87 संक्रमित मिले हैं। इनमें 57 वे हैं जो या तो दिल्ली से लौटे या वहां से आए दिनेश राठौर के परिवार और संक्रमित लोगों के संपर्क में आए।

अनलॉक-1 में ऐेसे बढ़ते गए कोरोना पॉजिटिव
दिल्ली में नमकीन कारोबार करने वाले बंशीपुरा निवासी दिनेश राठौर 25 मई को घर लौटे और अगले ही दिन उन्होंने बेटे की सगाई का कार्यक्रम कर दिया। 30 मई को दिनेश की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो उनके परिवार और संपर्क में आए लोगों के सैंपल लिए गए। अभी तक दिनेश के परिवार और संपर्क में आए 38 लोग संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें ज्यादातर राठौर परिवार से सीधा रिश्ता रखते हैं और कुछ पड़ोसी भी हैं। जबकि 19 मरीज ऐसे हैं, जो दिल्ली से लौटे और जांच में पॉजिटिव पाए गए। इस तरह राठौर परिवार और दिल्ली से आए 57 लोग संक्रमित पाए गए हैं। अन्य संक्रमित उत्तरप्रदेश, गुरुग्राम, अहमदाबाद, मुंबई और अन्य शहरों से लौटे हैं। इससे पहले लॉकडाउन-4 के 14 दिन में 87 मरीज मिले थे। इनमें 17 रिपीट पॉजिटिव मिले।

अहम वजह.. बाहर से आने वाले लोगों को क्वारैंटाइन नहीं किया गया
लॉकडाउन-3 के दौरान से यात्री दूसरे शहरों से आने लगे थे। जबकि लॉकडाउन-4 में दूसरे राज्यों से मजदूरों को लाने के लिए प्रयास द्वारा बसें चलाई गईं। इस कारण मरीज बढ़ना शुरू हो गए थे। 1 जून से जब अनलॉक-1 का ऐलान किया गया तो बाजार खुले और आवाजाही पर सभी तरह की पाबंदियां हटा ली गईं। दूसरे शहरों से यात्रियों के आने-जाने पर न कोई पाबंदी रही और न ही बाहर से आने वाले लोगों को क्वारैंटाइन किया गया। नतीजा- दूसरे शहरों से संक्रमित होकर आने वाले लोगों ने आसपास के लोगों को भी संक्रमित करना शुरू कर दिया। यही कारण है कि दिल्ली से आए दिनेश राठौर के कारण न केवल उनके परिवार के अधिकांश लोग कोरोना की गिरफ्त में आ गए बल्कि आसपड़ोस के लोगों को भी इन्होंने संक्रमित कर दिया।

4 बार पॉजिटिव आई रिपोर्ट फिर भी घर भेजा घर
डबरा के गुप्ता परिवार के राहुल गुप्ता और घनश्याम गुप्ता की चौथी रिपोर्ट भी शनिवार को पॉजिटिव आई थी, लेकिन आईसीएमआर की नई गाइडलाइन के हिसाब से डॉक्टरों ने राहुल और घनश्याम गुप्ता को डिस्चार्ज कर घर भेज दिया। सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने दोनों को घर में अलग-अलग कमरे में क्वारेंटाइन रहने के लिए कहा है। अब वे 14 दिन बाद पुन: सैंपल देकर जांच कराएंगे। इंदौर में ड्यूटी कर लौटे 80 पुलिसकर्मियों का रविवार को जिला अस्पताल की टीम ने कंपू स्थित एसएएफ बटालियन पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण किया। जिन पुलिसकर्मियों को संक्रमण के हल्के लक्षण नजर अाए उन सभी के सैंपल भी लिए गए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here