• मध्यप्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 3 हजार के करीब पहुंची, वहीं, अब तक 163 लोगों की मौत हो चुकी है 
  • उज्जैन के बड़नगर के कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई

दैनिक भास्कर

May 05, 2020, 12:45 PM IST

भोपाल. लॉकडाउन फेज-3 के दौरान ऑरेंज और ग्रीन जोन में कुछ छूट मिलने की वजह से नियमों की धज्जियां उड़ रही हैं। सड़कों पर सामान्य दिनों से ज्यादा भीड़ देखी जा रही है। बाजार, सब्जी मंडी और बैंकों के अलावा मोहल्लों में भी ऐसा नजारा देखने को मिल रहा है, जैसे कोरोना से मुक्ति मिल गई हो। सोशल डिस्टेंसिंग को दूर की बात है, लोग मास्क भी नहीं लगा रहे हैं। जिला प्रशासन ने अभी पब्लिक ट्रांसपोर्ट की मंजूरी नहीं दी है, लेकिन लोग मिनी ट्रकों से आते-जाते दिखे।

बुराहनपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा का परिवार भी कोरोना की चपेट में आ गया। तीन दिन पहले विधायक के भाई की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। सोमवार को विधायक की बहू, भतीजा, सवा साल के पोते की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। उज्जैन के बड़नगर के कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। विधायक की आपत्ति के बाद स्वास्थ्य विभाग ने उनके सैंपल को फिर से जांच के लिए भेजा है। इस बीच, मध्य प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 3 हजार के करीब पहुंच गई। राज्य में कोरोना से अब तक 163 लोगों की मौत हो चुकी है।

यह तस्वीर विदिशा की है। यहां सोमवार को लोग मिनी ट्रकों से आते-जाते देखे गए।

लॉकडाउन में छूट मिलते ही सब्र टूटा

  • सोमवार को लॉकडाउन के पहले दिन दोपहर तक ग्रीन और ऑरेंज जोन वाले जिलों में हालत सामान्य थे। लोग पहले की तरह घरों में थे और लॉकडाउन का पालन कर रहे थे। लेकिन दोपहर बाद अचानकर बाजारों में भीड़ बढ़ गई। भीड़ इतनी बढ़ी कि त्योहारी बाजार जैसा नजारा हो गया। गुना, अशोकनगर, सागर और विदिशा में तो प्रशासन ने एक्शन लेते हुए बाजार बंद कराए। गुना सदर बाजार में 20 मिनट तक जाम लगा रहा। गायत्री मंदिर पर सैकड़ों वाहन ट्रैफिक जाम में फंस गए। ऐसा ही हाल सागर में देखा गया। 
  • सरकार ने नई व्यवस्था के तहत कलेक्टरों को मंगलवार से शराब और भांग की दुकानों के संचालन को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए हैं। रेड जोन में शराब की बिक्री नहीं होगी। लेकिन, व्यापारियों से सरकार के मतभेद के चलते अभी भी स्थिति स्पष्ट नहीं है कि दुकानें खुलेंगी या नहीं। सागर संभाग में कुछ दुकानों के खुले होने की खबर है। शिवपुरी, गुना आदि जिलों में अभी तक दुकानें नहीं खुली हैं।

जोनवार दुकानें खोलने की व्यवस्था

  • भोपाल, इंदौर, उज्जैन में शराब दुकानें बंद रहेंगी। जबलपुर, धार, बड़वानी, पूर्वी निमाड़, देवास, ग्वालियर के ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानें खुलेंगी।
  • शहडोल, श्योपुर, डिंडौरी, बुरहानपुर, हरदा, बैतूल, विदिशा, मुरैना और रीवा के कंटेनमेंट क्षेत्र को छोड़कर बाकी जगहों पर दुकानें खुलेंगी। 
  • ग्रीन जोन के सभी जिलों में सभी जगहों पर दुकानें खुलेंगी।
यह तस्वीर गुना की है। सोमवार को बाजार खुलते ही भीड़ उमड़ पड़ी। 
यह तस्वीर भोपाल के न्यू मार्केट की है। यहां सिर्फ जरूरी सामान की दुकानें खुल रही हैं। 

कोरोना अपडेट्स

  • भोपाल: राजधानी में सोमवार को 11 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। इनमें 9 शहर के नए हॉटस्पॉट मंगलवारा क्षेत्र से हैं। दो जमातियों के संक्रमित मिलने के बाद देर रात हज हाउस खाली करा लिया गया। एम्स में इलाज के दौरान ऐशबाग क्षेत्र के एक मरीज ने दम तोड़ दिया। इन सबके बावजूद दो राहत भरी खबरें भी हैं। पहली- 30 और कोरोना मरीज डिस्चार्ज हो गए। दूसरी- जिला प्रशासन ने 340 कंटेनमेंट क्षेत्रों को घटाकर अब 160 कर दिया है। सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी ने बताया कि रविवार रात एक हजार सैंपल की रिपोर्ट में सिर्फ 25 पॉजिटिव मिले। शहर में कुल मरीजों की संख्या 583 हो गई है। 
  • इंदौर: एक निजी अस्पताल के 2 डॉक्टरों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई। सोमवार को इस अस्पताल को सील किया गया। डॉक्टरों के पिछले 15 दिनों के संपर्कों की तलाश की जा रही है। रविवार रात आई रिपोर्ट में 43 नए मरीज मिले। पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 1654 पर पहुंच गई। तीन लोगों की मौत भी हो गई। सोमवार को ही शहर के तीन अस्पतालों से 106 मरीज डिस्चार्ज हुए। 
  • रायसेन: जिले के 5 कोरोना से संक्रमित मरीजों के ठीक होने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। इसके बाद सभी अपने-अपने घर आ गए। 12 अन्य लोगों की भी दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आई। आज कोविड केयर सेंटर इंडियन चौराहे से सभी 12 लोगों की छुट्टी होगी। इस तरह एक दिन में जिले के 17 मरीज कोरोना से मुक्त हो जाएंगे। तीन लोग पहले ही ठीक हो चुके हैं। कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या 20 हो जाएगी। रायसेन में कोरोना से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 63 है। इनमें 20 लोगों के ठीक होने के बाद 41 एक्टिव केस बचेंगे। 2 लोगों की संक्रमण के चलते मौत हुई है। बचे हुए 41 मरीजों का भोपाल और रायसेन में इलाज चल रहा है।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 2942 संक्रमित: इंदौर 1611, भोपाल 563, उज्जैन 166, जबलपुर 98, खरगोन 77, रायसेन 59, धार 55, खंडवा 47,  होशंगाबाद 36, बड़वानी 26, देवास 26, बुरहानपुर 34, रतलाम 16, मुरैना 16, विदिशा 13, आगर मालवा 12, मंदसौर 36, शाजापुर 7, ग्वालियर-सागर और छिंदवाड़ा 5-5, श्योपुर 4, हरदा-अलीराजपुर-शहडोल में 3-3, रीवा-शिवपुरी-अनूपपुर और टीकमगढ़ में 2-2, बैतूल, डिंडोरी, अशोकनगर, पन्ना-निवाड़ी में एक-एक संक्रमित मिला। अन्य राज्य के 2 मरीज हैं।

  • अब तक 165 की मौत: इंदौर 77, उज्जैन 35, भोपाल 15, खरगोन और देवास में 7-7, खंडवा 6, होशंगाबाद-रायसेन-मंदसौर में 3-3, धार, जबलपुर, आगर मालवा, शाजापुर, छिंदवाड़ा, अशोकनगर में एक-एक की मौत हो गई।
  • स्वस्थ्य हुए 856 मरीज: इंदौर 362, भोपाल 266, उज्जैन 18, जबलपुर 12, खरगोन 36, रायसेन 3, धार 11, खंडवा 32, होशंगाबाद 19, मंदसौर 5, बड़वानी 23, देवास 11, रतलाम 11, मुरैना और विदिशा 13-13, शाजापुर 6, श्योपुर में 4, अलीराजपुर में 3, छिंदवाड़ा-ग्वालियर, शिवपुरी 2-2, सागर-बैतूल 1-1 मरीज स्वस्थ हुए। (स्वास्थ्य विभाग द्वारा 4 मई को शाम 6 बजे जारी बुलेटिन के अनुसार)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here