• कॉमर्शियल वाहनों के रजिस्ट्रेशन में कमी से राजस्व पर भी पड़ रहा असर

दैनिक भास्कर

Jun 23, 2020, 08:34 PM IST

पटना. लॉकडाउन खत्म होने के बाद जिला परिवहन कार्यालय में ड्राइविंग लाइसेंस, आरसी बनाने वालों की भीड़ बढ़ गई है। हर दिन 900 से एक हजार लोग परिवहन विभाग में डीएल, आरसी बनाने के साथ ही लाइसेंस रिन्यूवल के लिए आ रहे हैं। खास बात ये है कि एक तरफ जहां प्राइवेट वाहनों के रजिस्ट्रेशन में तेजी आई है, वहीं कॉमर्शियल वाहनों के आरसी बनाने में काफी कमी आई है। पहले हर दिन 15 से 20 भारी वाहनों के रजिस्ट्रेशन होते थे, वहीं लॉकडाउन के बाद टाटा मैजिक, टेम्पो जैसे एक-दो वाहनों के रजिस्ट्रेशन हो रहे हैं। इसका असर राजस्व पर भी पड़ रहा है।

लर्निंग लाइसेंस के लिए बढ़ी भीड़
लर्निंग लाइसेंस के लिए डीटीओ कार्यालय में भीड़ बढ़ गई है। एक जून से 22 जून तक 9856 लोगों ने लर्निंग लाइसेंस के लिए अप्लाई किया है। जिसमें 7676 लोगों का टेस्ट भी हो चुका है। इसके साथ ही 22 दिनों के अंदर 5763 लोगों का स्थायी लाइसेंस बना है। 1500 लोगों के लाइसेंस का रिन्यूवल किया गया है। इसके साथ ही लगभग 11 हजार लोगों ने गाड़ी का रजिस्ट्रेशन करवाया है। इसके साथ ही 2386 लोगों के वाहनों के मालिक के नाम, और नंबर को कॉमर्शियल वाहनों में तब्दील किया गया है। 

मैसेज मिलने के बाद भी नहीं पहुंचा रहा डीएल और आरसी
डीएल, आरसी बनाने में तेजी आने के बाद भी लोगों के पास तक ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन का कागज नहीं पहुंच रहा है। जिसकी वजह से लगभग ढाई हजार लोगों का ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन फंसा हुआ है। इन लोगों के पास पांच महीने पहले ही जनवरी, फरवरी में मैसेज आ गया था। लेकिन लॉकडाउन की वजह से लोगों के घरों तक डीएल और आरसी नहीं पहुंच सका। जिससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है। सबसे अधिक दिक्कत वाहनों के चेकिंग के दौरान होती है। वाहन चेकिंग के दौरान पुलिसकर्मी बगैर लाइसेंस और आरसी के चालान काटने लगते हैं। इस दौरान काफी अनुरोध करने के साथ ही मैसेज दिखाना पड़ता है जिसके बाद वे मानते हैं।

लॉकडाउन के बाद एक बार फिर से डीएल और आरसी बनाने की प्रक्रिया में तेजी आई है। हर दिन सैकड़ों लोग आवेदन कर रहे हैं। लर्निंग डीएल बनाने के लिए आवेदकों का टेस्ट होने के बाद आगे की प्रक्रिया पूरी की जाती है। साथ ही मैसेज मिलने के बाद भी जिन लोगों को लाइसेंस और आरसी अभी तक नहीं मिला है उनके द्वारा दिए गए पते पर जल्द ही डीएल और आरसी भेज दिया जाएगा। 
अजय कुमार ठाकुर, डीटीओ, पटना



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here