• राहत की बात है कि अब तक कोरोना के 2408 पेशेंट रिकवर होकर घर वापसी कर चुके हैं

दैनिक भास्कर

Jun 21, 2020, 06:53 AM IST

गुड़गांव. गुड़गांव में कोरोना वायरस के जहां केस लगातार बढ़ रहे हैं, वहीं मौतों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ता जा रहा है। जून में जहां 20 दिन में 3533 नए पॉजिटिव केस मिले हैं, वहीं 56 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले आठ दिन में ही 40 लोग कोरोना से दम तोड़ चुके हैं। हालांकि राहत की बात है कि अब तक 2408 पेशेंट रिकवर होकर घर वापसी कर चुके हैं। लेकिन कोरोना पेशेंट का आंकड़ा शनिवार को बढ़कर 4307 तक पहुंच गया।

गुड़गांव शहर दिल्ली के बाद एनसीआर में सबसे अधिक कोरोना पेशेंट वाला शहर बन गया है। गुड़गांव में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार तेजी से बढ़ रहा है। अब तक पिछले तीन महीने में 22276 लोगों के सेम्पल लिए गए हैं, जिनमें से 4307 पॉजिटिव केस मिले हैं, जिससे पॉजिटिव रेट 19 फीसदी है जबकि लगातार हो रही मौतों के कारण अब गुड़गांव में फेटेलिटी रेट बढ़कर 1.32 फीसदी हो गया है।

लेकिन गुड़गांव में सैंपलिंग की संख्या बढ़ाई गई है। अभी तक जहां 500 से कम लोगों के ही रोजाना सेम्पल लिए जा रहे थे, वहीं शनिवार को 932 लोगों के सेम्पल जांच के लिए भेजे गए हैं, जिनमें से 694 लोगों के सेम्पल प्राइवेट अस्पतालों व 238 लोगों के सेम्पल नागरिक अस्पताल से जांच के लिए भेजे गए हैं। यह अब तक 24 घंटे में लिए गए सेम्पल का सबसे अधिक आंकड़ा है।
80 फीसदी पेशेंट में नहीं कोई लक्षण
सिविल सर्जन डा. वीरेंद्र यादव के अनुसार गुड़गांव में 80 प्रतिशत से अधिक कोरोना मरीजों में लक्षण न के बराबर हैं। जब कोरोना संक्रमित व्यक्ति की सैंपलिंग को 10 दिन पूरे हो जाते हैं, आखिरी 3 दिन में उसमें कोरोना के किसी प्रकार के लक्षण नहीं होते तो वह अपना गृह एकांतवास समाप्त कर सकता है।

इसके लिए उसे किसी प्रकार की सैंपलिंग करवाने की जरूरत नहीं होती। 10 दिनों तक कोरोना संक्रमित व्यक्ति में यदि कोई लक्षण नहीं आते हैं तो उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया जाता है। उसे एक सप्ताह के लिए घर पर क्वॉरेंटाइन किया जाता है। यदि उसे कोई लक्षण दिखाई नहीं पड़ते तो वह  गृह एकांतवास समाप्त कर सकता है।
ये लक्षण हो तो तुरंत अस्पताल पहुंचे

सीएमओ डा. विरेन्द्र यादव ने बताया कि जब भी बुखार हो या सांस लेने में कठिनाई, छाती में दर्द या दवाब, मानसिक असमंजस, चेहरे या होठों पर नीलिमा इत्यादि की शिकायत हो तो स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करें और तुरंत किसी प्राइवेट या गवर्नमेंट अस्पताल में पहुंचे। या पेशेंट 1950 या 108 पर डायल कर सूचना दे सकते हैं।

4 बुजुर्गों ने कोरोना संक्रमण से दम तोड़ा

सीएमओ डा. विरेन्द्र यादव ने बताया कि शनिवार को चार लोगों की संक्रमण के कारण मौत हुई है। लेकिन अभी तक मिली सूचना के अनुसार मृतकों की उम्र 64 वर्ष से 86 साल के बीच की है। वहीं अब तक 59 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से 70 फीसदी मृतकों की उम्र 60 वर्ष से अधिक रही है।

नूंह जिले में तीन दिन की बच्ची सहित चार कोरोना पॉजिटिव मिले

मेवात में शनिवार को भी कोरोना के चार नए मामले सामने आए हैं। वहीं एक कोरोना मरीज इलाज के दौरान ठीक हो गया। जिसके बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया। जिले में चार नए मामले अड़बर, खेड़ला पुन्हाना, कलवाड़ी तावडू व साकरस गांव के हैं। साकरस गांव में तीन दिन की बच्ची कोरोना पॉजिटिव पाई गई है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here