• आईआईटी मद्रास के निदेशक प्रो. राममूर्ति बोले- यह प्रोग्राम शिक्षा के क्षेत्र में गेमचेंजर होगा
  • इस कोर्स के लिए रेगुलर डिग्री कोर्स का विद्यार्थी होना जरूरी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:03 AM IST

चेन्नई. आईआईटी मद्रास ने कोरोना काल में बीएससी का ऑनलाइन डिग्री प्रोग्राम शुरू किया है। ये डिग्री प्रोगामिंग एंड डेटा साइंस में कराई जाएगी। इस तरह आईआईटी मद्रास ऑनलाइन बीएससी डिग्री प्रोग्राम चलाने वाला देश का पहला इंस्टीट्यूट बन गया है।

आईआईटी मद्रास के निदेशक प्रो. भास्कर राममूर्ति ने दैनिक भास्कर को बताया कि डेटा साइंस डिग्री कोर्स आज के समय की जरूरत है, जो रोजगार को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है। डेटा वैज्ञानिकों की मांग और जॉब मार्केट में उपयुक्त योग्य मानव संसाधन की कमी को देखते हुए इसे लॉन्च किया है। यह प्रोग्राम भारतीय शिक्षा के क्षेत्र में आने वाले समय में गेमचेंजर साबित होगा। साल 2026 तक इस सेक्टर में सवा करोड़ रोजगार भी पैदा होंगे।

स्नातक के बाद ही कर सकेंगे कोर्स
प्रोफेसर राममूर्ति ने कहा कि यह कोर्स स्कूलिंग पूरी करके निकले बच्चों के लिए नहीं है। इस कोर्स के लिए आपको किसी भी विषय में रेगुलर डिग्री कोर्स से पास होना जरूरी है। ये कोर्स उन लोगों के लिए बहुत उपयोगी है, जो पहले से कहीं काम कर रहे हैं। खासतौर पर पढ़ाई छोड़ चुके हों। इसके अलावा इस ऑनलाइन कोर्स के लिए आपको लैब की जरूरत नहीं पड़ती और घर पर ही आसानी से प्रोग्रामिंग की जा सकती है। बीएससी डिग्री प्राप्त करने के लिए स्टूडेंट को फाउंडेशन स्तर, डिप्लोमा और डिग्री स्तर को पूरा करना होगा। इसके अलावा, तीन निकास स्तर भी हैं। स्टूडेंट किसी भी स्तर पर पाठ्यक्रम से बाहर निकल सकते हैं। वे या तो डिग्री के तीनों स्तरों को पूरा कर सकते हैं, या फिर फाउंडेशन या डिप्लोमा पूरा करने के बाद बाहर निकल सकते हैं।

कई एनआईआईटी के साथ ऑनलाइन कोर्स

आईआईटी मद्रास देशभर के कई एनआईआईटी के साथ अनेक ऑनलाइन कोर्स 2005 से ही चला रहा है। लेकिन यह पहला डिग्री कोर्स है। इसके एडमिशन की तारीख अभी तय नहीं है।

एडमिशन के लिए 4 हफ्ते का ऑनलाइन कोर्स और असाइनमेंट मिलेगा
एडमिशन के लिए चार हफ्ते का ऑनलाइन कोर्स और असाइनमेंट पूरे करने होंगे। जो छात्र वीकली असाइमेंट में पासिंग मार्क्स ला पाएंगे, उन्हें क्वालीफायर एग्जाम का मौका दिया जाएगा। जो छात्र क्वालिफायर एग्जाम में पासिंग मार्क्स लाएंगे, उन्हें फाउंडेशनल लेवल में रजिस्ट्रेशन का मौका मिलेगा। फाउंडेशनल लेवल में 8 कोर्स होंगे जबकि डिप्लोमा लेवल पर 6 प्रोग्रामिंग कोर्स और 6 डेटा साइंस कोर्स रहेंगे। डिग्री लेवल पर 11 कोर्स रखे गए हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here