दैनिक भास्कर

Jun 13, 2020, 08:22 AM IST

हरदा. मध्यप्रदेश में चुनी हुई कांग्रेस की सरकार को किस तरह गिराया गया, इसका कथित ऑडियो वायरल होने के बाद इसे लोकतंत्र की मजबूती को खोखला करने की साजिश बताते हुए कांग्रेस जिलाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण पवार ने शुक्रवार को डिप्टी कलेक्टर राजनंदिनी शर्मा को ज्ञापन दिया।
राष्ट्रपति के नाम दिए ज्ञापन में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बैठक में खुद इस बात का जिक्र किया कि कमलनाथ की सरकार को भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के कहने पर गिराया गया। उन्होंने यह भी कहा कि यदि सरकार न गिराई जाती तो भाजपा को कितना नुकसान होता। पवार ने कहा कि जनता द्वारा चुनी हुई सरकार को गिराना लोकतंत्र के लिए खतरा है। ऐसे में लोकतंत्र के सजग प्रहरी होने के नाते उन्हें संविधान में दिए अधिकारों के अनुसार सरकार की रक्षा करना चाहिए, साथ ही हथकंडे अपनाकर सरकार को अस्थिर कर गिराने वालों पर भी कार्रवाई की जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो भविष्य में चुनाव की प्रक्रिया ही मूल्यहीन हो जाएगी, ऐसे में कोई भी दल चंद विधायकों को लालच देकर सरकार को अस्थिर करता रहेगा। उन्होंने अाडियाे की फॉरेंसिक जांच कराने की मांग की।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here