दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:12 AM IST

आमला. शुक्रवार को लंबे समय बाद जंक्शन पर रेल कर्मियों सहित यात्रियों की हलचल नजर आई। इस हलचल में एक तरफ कर्मचारी संगठन का केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध नजर आया वहीं कर्मचारी यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए आरक्षण सुविधा देते नजर आए।

श्रम कानून पर जताया विरोध
शुक्रवार को रेल कर्मियाें ने यह प्रदर्शन सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ के सचिव सतीश मीणा और दिनेश सोनी के नेतृत्व में किया। सभी ने काली पट्टी बांधी। सचिव मीणा ने कहा कि केंद्र सरकार लाया गया श्रम कानून कर्मचारी विरोधी है। महामारी के दौर में सभी कर्मचारी सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं। इसके बावजूद इस तरह की नीतियां बनाना कर्मचारियों के साथ धोखा है।
ये बताए नुकसान 
सीआरएमएस के अरविंद मगरदे ने बताया कि श्रम कानून अध्‍यादेश देश में नौकरी की सुरक्षा खत्म होगी। काम के घंटे बढ़ जाएंगे औैर मजदूरी कम मिलेगी। सामाजिक सुरक्षा में भी कटौती होगी। ट्रेड यूनियन अधिकारों का खात्मा हो जाएगा। बोनस एक्ट भी खत्म होगा। इस कारण संगठन आगे भी इस कानून का लगातार विरोध करेगा।
खुले रिजर्वेशन विंडो 
जंक्शन पर फिलहाल यात्री ट्रेनों का स्टापेज शुरू नही हुआ है, लेकिन बैतूल औैर घोड़ाडोंगरी स्टेशन पर रुकने वाली ट्रेनों के लिए जंक्शन से भी रिजर्वेशन सुविधा मिल रही है। शुक्रवार को यहां पर सोशल डिस्टेंस के साथ इस विंडों की शुरुआत हुई। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here