• हरियाणा में कोरोना मरीजों की संख्या पहुंची 890
  • प्रदेश में अब तक कुल 514 मरीज ठीक हो गए 

दैनिक भास्कर

May 17, 2020, 10:59 AM IST

पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन फेज-3 का 14वां दिन है। प्रदेश में कोरोना की वजह से 14वीं व फरीदाबाद में छठी मौत हुई है। मरने वाले व्यक्ति की उम्र 45 वर्ष थी। वह फरीदाबाद की भारत कॉलोनी का रहने वाला था। फरीदाबाद सिविल सर्जन डॉ. कृष्ण कुमार ने इसकी पुष्टि की है। मृतक व्यक्ति को शुगर की बीमारी के साथ-साथ कई अन्य स्वास्थ्य संबंधी भी दिक्कत थी। उसे फरीदाबाद के बीके अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, हालत बिगड़ने पर ईएसआई के कोविड अस्पताल में रेफर किया गया था। वहां ईलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। इसके साथ-साथ फरीदाबाद में रविवार को तीन नए केस भी आए हैं। इसके बाद कुल मरीजों की संख्या 890 पहुंच गई है। 

हरियाणा के इन जिलों में हो चुकी है कोरोना से मौत

कोरोना की वजह से फरीदाबाद में सबसे ज्यादा 6, पानीपत जिले में 3, अम्बाला में 2, सोनीपत, करनाल और रोहतक में 1-1 मरीज की मौत हो चुकी है। मरने वाले सभी मरीजों में कोई न कोई बीमारी थी, उसके बाद कोरोना हुआ और उनकी मौत हो गई। 

फरीदाबाद में लॉकडाउन में शादी करने पर मामला दर्ज

फरीदाबाद के सेक्टर-8 पुलिस का कहना है कि सेक्टर 10 हाउसिंग बोर्ड में रहने वाली एक युवती ने बराही तालाब ओल्ड फरीदाबाद निवासी एक युवक के साथ सेक्टर 65 स्थित आर्य समाज मंदिर में 7 मई को शादी कर ली। इसके लिए अथॉरिटी से कोई परमिशन भी नहीं ली। पुजारी राकेश ने इन दोनों की शादी कराई। युवतियों ने मंदिर से सर्टिफिकेट लेकर अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश राजेश गर्ग की कोर्ट में प्रोटेक्शन मांगने पहुंच गईं, लेकिन कोर्ट से इसे लॉकडाउन का उल्लंघन माना और सेक्टर 8 की पुलिस ने युवती, उसके पति और मंदिर के पंडित के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। इसी तरह दिल्ली के यमुना विहार की रहने वाली एक युवती ने एसजीएम नगर निवासी एक युवक से आर्य समाज मंदिर ऊंचा गांव में 14 मई को शादी कर कोर्ट में प्रोटेक्शन मांगने पहुंच गई।

अम्बाला बस स्टैंड के पास 14 साल का बच्चा रेहड़ी चला रहा था। वह पूरे परिवार सहित लुधियाना से यहां तक पहुंचे। उन्हें 900 किलोमीटर दूर यूपी के फतेहपुर जाना था। 

टूरिस्ट वीजा पर धर्म प्रचार करने वाले 107 जमाती जेल भेजे गए

दिल्ली के निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज समेत अनेक राज्यों से हरियाणा में आए जमातियों के खिलाफ राज्य सरकार ने कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है। टूरिस्ट वीजा पर आकर देश में धार्मिक प्रचार-प्रसार में लगे 107 जमातियों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। जबकि इनके पासपोर्ट सरकार पहले ही जब्त कर चुकी है। सजा भुगतने के बाद इन्हें छोड़ा जाएगा और इसके बाद ही ये वापस अपने देश जा सकेंगे। इनके खिलाफ प्रदेश के पांच जिले गुड़गांव, नूंह, पलवल, अंबाला और पानीपत में वीजा उल्लंघन के आरोप में केस दर्ज किए गए थे। ये विदेशी जमाती श्रीलंका, इंडोनेशिया, साउथ अफ्रिका, मलेशिया और बांग्लादेश आदि देशों से आए थे। इन्होंने भारत में घूमने के लिए वीजा लिया था। परंतु यहां ये अपने धर्म का प्रचार कर रहे थे। अब इन्हें सजा पूरी करने के बाद इनके देश भेजा जाएगा। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 890 पहुंचा

  • हरियाणा में अब तक गुड़गांव में 193, फरीदाबाद में 147, सोनीपत में 134, झज्जर में 90, नूंह में 65, अम्बाला में 42, पलवल में 39, पानीपत में 36, पंचकूला में 25, जींद में 20, करनाल में 17, रेवाड़ी में 9, यमुनानगर, फतेहाबाद और रोहतक में 8-8, सिरसा में 7, भिवानी और महेंद्रगढ़ में 6-6, कैथल में 5, हिसार और चरखी दादरी में 4-4, कुरुक्षेत्र में 3 पॉजिटिव मिले। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 514 मरीज ठीक हो गए हैं। गुड़गांव में 90, सोनीपत में 75, फरीदाबाद में 77, नूंह में 58, अम्बाला में 40, पलवल 35,  झज्जर में 28, पानीपत में 30, पंचकूला में 20, जींद में 10, यमुनानगर में 8, करनाल में 9, सिरसा में 6, यमुनानगर, भिवानी और हिसार में 3-3, कैथल, कुरुक्षेत्र, रोहतक में 2-2, चरखी दादरी, फतेहाबाद 1-1 मरीज ठीक होने पर घर भेजा गया। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।  



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here