• गुजरात में 19 जून को राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान होना है, इससे पहले दोनों दलों के बीच लामबंदी शुरू हो गई
  • गुजरात में कांग्रेस के पास 65 विधायक बचे; राजस्थान में 4 विधायक 2 दिन पहले आ गए थे, 21 कल आए

दैनिक भास्कर

Jun 07, 2020, 07:49 PM IST

सिरोही. (रवि भारद्वाज). गुजरात में 19 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर सियासत गरमाई हुई है। मतदान के करीब दो सप्ताह पहले 3 कांग्रेसी विधायकों के इस्तीफे के बाद पार्टी ने अपने करीब 22 विधायकों को राजस्थान शिफ्ट कर दिया है। विधायकों को यहां सिरोही के एक रिसॉर्ट में शिफ्ट कर दिया है। गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अमित चावडा ने भाजपा पर कांग्रेस विधायकों को खरीदने का आरोप लगाया। इधर, सिरोही नगर पालिका अध्यक्ष और भाजपा अन्य नेताओं ने रिसोर्ट में करीब 50 लोगों के ठहरने को लॉकडाउन का उल्लंघन बताया और प्रशासन से कार्रवाई के लिए कहा है।

भाजपा के जिला महामंत्री जय सिंह राव की ओर से सदर थाने में कोविड महामारी उल्लंघन तथा होटल प्रबंधन के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। वहीं होटल से करीब एक किमी दूर एक चैकपोस्ट से तहसीलदार तथा पुलिस के अधिकारी स्थित पर नजर बनाए हुए हैं। गुजरात सीमा पर आरएसी तैनात कर दी गई है।  भाजपा के जिला अध्यक्ष नारायण पुरोहित ने कहा कि राजस्थान सहत देशभर में होटल बंदी हैं ऐसे में इन 22 विधायकों को ठहराकर कांग्रेस ने अपना चरित्र दिखाया है। इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। 

पाटन विधायक बोले- जो बिकने वाला माल था, बिक गया
पाटन से विधायक डाॅ. किरीट पटेल ने कहा कि रिसोर्ट में 25 विधायक हैं। हाल ही 3 विधायकों के पार्टी छोड़ने से क्या और एमएलए के पाला बदलने का डर होने के सवाल पर उन्होंने कहा- हमें कोई डर नहीं है। हम सब एक हैं। उन्होंने कहा जो बिकाऊ माल है वह बिक गया, हमें इसकी चिंता नहीं है। इससे पहले भी कांग्रेस के विधायकों को जयपुर में रखा गया था। तब कोरोना के कारण राज्यसभा चुनाव स्थगित होने से इन्हें मार्च के अंत में गुजरात भेज दिया गया था। 

वाइल्ड विंड्स रिसोर्ट में ठहराया
कांग्रेस ने अपने चार विधायकों को दो दिन पहले ही यहां शिफ्ट कर दिया था। इसके बाद शनिवार शाम को 21 विधायक और यहां आ गए। पार्टी ने अपने अन्य करीब 40 विधायकों को राजकोट में ठहराया है। यह रिसोर्ट गुजरा-राजस्थान बॉर्डर पर अंबाजी में स्थित है। 

भाजपा ने विरोध दर्ज कराया
यहां के पालिका अध्यक्ष सुरेश चंदेल, ओबीसी मोर्चा के जिला अध्यक्ष मनीष मोरवाल समेत अन्य नेता रविवार सुबह रिसोर्ट पहुंचे और विधायकों को लॉकडाउन में यहां ठहराए जाने पर विरोध दर्ज कराया। उन्होंने इसकी सूचना प्रशासन को दी। पालिका अध्यक्ष चंदेल ने इस संबंध में पुलिस से शिकायत से की है।  

यह है चुनाव में स्थिति
गुजरात में पिछले 3 महीने में कांग्रेस के 8 विधायक विधानसभा से इस्तीफा दे चुके हैं। अब कांग्रेस के पास 65 विधायक बचे हैं। राज्य में 4 सीटों समेत पूरे देश में 18 सीटों के लिए 19 जून को चुनाव होना है। कांग्रेस ने यहां से दो सीटों के लिए अपने उम्मीदवार चुनाव में उतारे हैं। वहीं, भाजपा के 3 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। विधायकों के इस्तीफे के बाद कांग्रेस उम्मीदवारों की जीत की संभावना कम है। 
ये विधायक पहुंचे  
वाइल्ड विंड्स रिसोर्ट में चंदन ठाकोर, भरत ठाकोर, गनीबेन ठाकोर, शिवभाइ भूरिया, गुलाब सिंह राजपूत, कांति खराड़ी, सीजे चावड़ा, बलदेव ठाकुर, रित्विक मकवाना, राजेश गोहिल, महेश पटेल, राजेंद्र सिंह ठाकोर, अश्विन कोटवाल, वजे सिंह पाणदा, जसू भाई पटेल, नौशाद सोलंकी, लक भाई भरवाड, नाता भाई पटेल, सुरेश पटेल, स्वीट पटेल, शैलेश परमार, हिम्मत भाई पटेल आए हैं।

अंबाजी स्थित वाइल्ड विंड्स रिसोर्ट, यहां कांग्रेस के विधायकों को ठहराया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here