• कैलिफोर्निया सैन डिएगो हेल्थ यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने हालिया रिसर्च में कहा, ऐसे मरीजों में संक्रमण का असर कम होगा
  • शोधकर्ताओं के मुताबिक, कोरोना के 169 मरीजों पर एक महीने से अधिक चली रिसर्च में सामने आए परिणाम​​​​​

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 12:51 PM IST

कैलिफोर्निया. गंध को महसूस न कर पाना भी कोरोनावायरस के संक्रमण का एक लक्षण है लेकिन अमेरिकी वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसे लक्षण वाले मरीजों में बीमारी गंभीर रूप नहीं लेगी। कोरोना के दूसरे मरीजों के मुकाबले इन पर संक्रमण का असर कम होगा। यह दावा अमेरिका की कैलिफोर्निया सैन डिएगो हेल्थ यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने किया है। 

हॉस्पिटल में भर्ती होने की आशंका बेहद कम
रिसर्च टीम के हेड और शोधकर्ता डॉ. कैरल येन का कहना है कि पिछली रिसर्च में पाया गया था कि गंध महसूस न होने का मतलब है कि आप कोरोना संक्रमण की शुरुआती स्टेज में हैं जिसमें बाद में बुखार और थकान जैसे लक्षण दिखते हैं। हालिया शोध में यह सामने आया है कि यह लक्षण बताता है कि आपके हॉस्पिटल में भर्ती होने का चांस कम है। 

एक माह से अधिक चली रिसर्च

शोधकर्ता डॉ. कैरल येन के मुताबिक, ऐसा लक्षण दिखने पर कोरोना के हल्के लक्षण दिखाई देंगे। कोरोना के 169 मरीजों पर 3 मार्च से लेकर 8 अप्रैल तक रिसर्च की गई है। परिणाम के रूप में सामने आया कि 169 में से केवल 26 मरीजों को ही हॉस्पिटल में भर्ती करना पड़ा। ऐसे संक्रमित मरीज जिन्होंने गंध न महसूस होने की शिकायत की उनके अस्पताल में भर्ती होने की आशंका 10 गुना कम थी। 

नाक में वायरस पहुंचने पर सूंघने की क्षमता प्रभावित होती है
शोधकर्ताओं का कहना है कि ऐसा क्यों हो रहा है, इसकी वजह सामने नहीं आ पाई है लेकिन कोरोनावायरस सबसे पहले नाक और ऊपरी श्वांस तंत्र में पहुंचता है जिससे सूंघने की क्षमता पर असर पड़ता है। इसका परिणाम हल्के लक्षण के रूप में दिखता है। एक बार ये फेफड़े तक पहुंचा हो हालत गंभीर होनी शुरू हो जाती है।

सीडीसी ने कोरोना के 6 नए लक्षण बताए
अमेरिकी सरकार के शीर्ष मेडिकल संस्थान-  सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने भी माना है कि कोरोना से संक्रमण के नए लक्षण सामने आए हैं। सीडीसी ने संक्रमण के 6 नए लक्षणों की जानकारी होने की पुष्टि की हैं। इनमें बहुत ज्यादा ठंड लगना, ठंड के साथ कंपकंपी छूटना, मांसपेशियों में दर्द बना रहना, लगातार सिरदर्द रहना, गले में चुभन के साथ होने वाला दर्द, खुशबू, गंध या स्वाद न महसूस होना शामिल है।
विशेषज्ञों का मानना है कि संक्रमण के लक्ष्णों का नया रूप सामने आया है। इससे पहले सीडीसी ने बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ को कोरोना संक्रमण का लक्षण बताया था।

Coronavirus Latest Research Update On Sense Of Smell/ Olfaction Over Covid Infection By US Scientists | कोरोना के ऐसे मरीज जिनमें गंध न महसूस होने का लक्षण है, उन्हें जानलेवा संक्रमण का खतरा नहीं, अमेरिकी शोधकर्ताओं का दावा



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here