• दुनिया के ज्यादातर देशों में सभी खेल आयोजन रद्द लेकिन रूस से अलग हुए बेलारूस में ऐसा कुछ नहीं
  • यहां के राष्ट्रपति खुद आईस हॉकी खेल रहे, स्टेडियम में फुटबॉल मैच भी बेरोकटोक जारी

दैनिक भास्कर

Mar 30, 2020, 08:53 PM IST

मिंस्क. कोरोनावायरस दुनिया में अब तक 35 हजार से ज्यादा लोगों को मौत की नींद सुला चुका है। हर मुल्क इससे खौफजदा है। बचने के कड़े उपाय कर रहे हैं। लेकिन, बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको बेफिक्र हैं। उनके देश में संक्रमण से बचने के कोई उपाय नहीं किए गए हैं। खचाखच भरे स्टेडियम में फुटबॉल और आईस हॉकी खेली जा रही है। लुकाशेंको के मुताबिक- बेलारूस में कोरोना का कोई खतरा नहीं है। लोगों को वोदका पीना चाहिए और साउना बाथ लेना चाहिए। 

खड़े होकर जान जाए तो बेहतर
सोवियत संघ के विघटन के बाद बेलारूस का गठन हुआ था। आबादी करीब 90 लाख है। लुकाशेंको 1994 से सत्ता में हैं। यहां 92 लोग संक्रमित भी पाए जा चुके हैं। लेकिन, राष्ट्रपति बेफिक्र नजर आते हैं। पिछले दिनों उन्होंने खुद एक आईस हॉकी मैच में हिस्सा लिया। इसके बाद मीडिया से बातचीत की। कहा, “घुटनों के बल चलकर जिंदगी गुजारने से बेहतर है, पैरों पर खड़े होकर मर जाना। आपको यहां कोई वायरस उड़ता नजर आ रहा है? मुझे तो नहीं दिखता।” 

मिंस्क में पिछले दिनों एक फुटबॉल मैच के दौरान मौजूद दर्शक। 

और सुझाव भी…

लुकाशेंको ने आगे कहा, “खेल वायरस से निजात पाने का सबसे अच्छा तरीका है। लोगों को रोज 50 मिलीलीटर वोदका पीना चाहिए। साउना बाथ लेना चाहिए ताकि गर्म रह सकें। खेतों में काम करना चाहिए। नाश्ता वक्त पर करना बेहद जरूरी है। इस देश में लॉकडाउन, बॉर्डर सील या सोशल डिस्टैंसिंग की फिलहाल कोई जरूरत नहीं है।” रूस ने नागरिकों पर कई प्रतिबंध लगाए हैं। बेलारूस के राष्ट्रप्रमुख ने इनका मजाक उड़ाया।  

सरकारी आयोजन रद्द नहीं होंगे
बेलारूस 9 मई को विजय दिवस मनाता है। इस दिन लाखों लोग सड़कों पर नजर आते हैं। लुकाशेंको के मुताबिक, “विक्ट्री डे प्रोग्राम रद्द नहीं होगा। सरकारी कार्यक्रम तय वक्त पर ही होंगे। हमारी रक्षा भगवान करेगा। कई लोग कह रहे है कि बॉर्डर सील कर दीजिए। मैं ऐसा बिल्कुल नहीं करूंगा। किसी नागरिक को क्वारैंटाइन भी तभी किया जाएगा, जब ये बेहद जरूरी होगा।”



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here