• अमेरिका में अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है, यहां करीब 1 करोड़ 68 लोग बेरोजगार हो गए हैं
  • अमेरिका में अब तक 4 लाख 68 हजार से ज्यादा पॉजिटिव केस मिले, 16 हजार 691 मौतें हुई 
  • इटली में  दुनिया में सबसे ज्यादा 18 हजार 279 मौतें, 1 लाख 43 हजार से ज्यादा संक्रमित

दैनिक भास्कर

Apr 10, 2020, 11:27 AM IST

वॉशिंगटन/लंदन/रोम. कोरोनावायरस से दुनिया भर में अब तक 16 लाख से ज्यादा संक्रमित मिले हैं और 95 हजार 722 मौतें हुई हैं। अमेरिका इससे बुरी तरह प्रभावित हुआ है। यहां 4 लाख 68 हजार से ज्यादा पॉजिटिव केस मिले हैं और 16 हजार 691 मौतें हुई हैं। इस बीच यमन में शुक्रवार को कोरोना का पहला पॉजिटिव केस सामने आया। कोरोना पर देश की इमरजेंसी कमेटी ने बताया कि हद्रामाउट प्रांत में एक व्यक्ति पॉजिटिव पाया गया। वहीं ऑस्ट्रेलिया सरकार ने लोगों को ईस्टर पर लोगों से घरों से नहीं निकलने के लिए कहा है। लोगों पर नजर रखने के लिए हेलिकॉप्टर से निगरानी की जाएगी। पुलिस चेक प्वाइंट लगाकर लोगों को रोकेगी। सरकार ने कहा है कि नियमों का उल्लंघन करने वाले पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा। यहां पर 6 हजार 152 संक्रमित मिले हैं,53 मौतें हुई हैं और 2 हजार 987 लोग ठीक हुए हैं।

कोरोना के कारण अमेरिका में अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ा है और यहां करीब 1 करोड़ 68 लोग बेरोजगार हो गए हैं। ऐसा माना जा रहा है कि औसतन 10 में से 1 व्यक्ति कोरोना की वजह से बेरोजगार हुआ है। रेस्टोरोंट और दुकानें बंद होने से जरूरी सामान की किल्लत महसूस हो रही है। इसे देखते हुए सरकार ने लोगों को फूड बैंक के माध्यम से राशन और खाने का सामान बांटना शुरू किया है। 

न्यूयॉर्क में पिछले 24 घंटे में 799 मौतें

अमेरिका के न्यूयॉर्क में मौतों का आंकड़ा शुक्रवार को 7 हजार 67 पहुंच गया। यहां पर अब तक 1 लाख 61 हजार 504 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। गवर्नर एम क्यूम ने कहा कि पिछले 24 घंटे में 799 लोगों की मौत हुई है। लेकिन केवल 200 लोग अस्पताल में भर्ती हुए हैं। यह लॉकडाउन शुरू होने के बाद अब तक अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की सबसे कम संख्या है। 

अमेरिका के बोस्टन सिटी हॉल को कोरोना के खिलाफ लड़ रहे लोगों के समर्थन में नीले रंग से रौशन किया गया।

इटली में दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें

दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें इटली में हुई हैं। यहां अब तक 18 हजार 279 लोगों की मौत हो गई। यहां 1 लाख 43 हजार 626 पॉजिटिव केस सामने आए हैं, इनमें 28 हजार 470 लोग ठीक भी हुए हैं। डॉक्टर्स फेडरेशन ने गुरुवार को बताया कि देश में 24 घंटे में चार और फिजिशियन की मौत हो गई। इसके बाद यहां कोरोनावायरस से डॉक्टरों की मौत का आंकड़ा बढ़कर 100 हो गया। इनमें रिटायर्ड डॉक्टर भी शामिल हैं, जो महामारी बढ़ने के बाद दोबारा काम पर लौट आए थे। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, यहां 30 नर्स भी कोरोना की चपेट में आने के बाद जान गंवा चुकी हैं। इटली के उच्च स्वास्थ्य संस्थान के मुताबिक, देश में 13 हजार 121 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित हैं।

इटली के वेरेस स्थित एक अस्पताल के आईसीयू वार्ड में जाने से पहले हाथ सैनिटाइज करता एक स्वास्थ्यकर्मी।

फ्रांस में मौतों की संख्या 12 हजार के पार

फ्रांस में कोरोना से मरने वालों की संख्या 12 हजार से ज्यादा हो गई है। पिछले 24 घंटे में यहां 424 लोगों ने दम तोड़ा। स्वास्थ्य महानिदेशक जेरोम सैलमन के मुताबिक, संक्रमण फैलने के बाद से अब तक 8 हजार 44 मौतें संक्रमितों की मौत अस्पताल में हुई वहीं नर्सिंग होम में भर्ती 4,166 बुजुर्गों की जान गईं। पिछले एक दिन में ही 4,334 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में संक्रमितों की संख्या1 लाख 17 हजार 749 हो गई है।

चीन में 42 नए मामले सामने आए

चीन में पिछले 24 घंटे में 42 नए मामले सामने आए हैं। इनमें 38 विदेश से लौटे हैं। वुहान शहर में शुक्रवार को एक संक्रमित हो गई। इसी शहर से दुनिया भर में संक्रमण फैलने की बात कही जा रही है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के मुताबिक, देश में बुधवार को 62 और गुरुवार को 63 नए मामले सामने आए थे। देश में अब 81 हजार 907 पॉजिटिव केस मिले हैं। 3,336 लोगों की मौत हुई है और 77 हजार से ज्यादा ठीक हुए हैं। 

कोरोना अपडेटस‌:

  • दक्षिण अफ्रीका में 27 मार्च को 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की गई थी, अब इसे दो हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया है। राष्ट्रपति सिरिल रैमफोसा ने गुरुवार को कहा कि राष्ट्रीय कोरोनावायरस कमांड काउंसिल ने मौजूदा हालात पर गौर करते हुए यह लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया है। 
  • अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि में हमने अब तक 20 लाख (2 मिलियन) टेस्ट कराए हैं। यह बेहद मुश्किल था लेकिन इसे सटीक ढंग से किया गया। इससे पहले ट्रम्प ने कहा था कि देश में बड़े पैमाने पर टेस्टिंग नहीं होगी।
  • चीन के शंघाई में गुरुवार को तीन नए पॉजिटिव मामले सामने आए। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। म्युनिसिपल हेल्थ कमीशन के इन तीन नए मामलों में अमेरिका और रूस से लौटे दो चीनी नागरिक और एक ब्राजील का नागरिक शामिल है।
  • पेट्रोलियम निर्यात करने वाले देशों के संगठन(ओपेक) ने मांग घटने की वजह से उत्पादन कम करने का फैसला किया। संगठन में शामिल रूस समेत अन्य देशों ने हर दिन 10 बैरल कम कच्चे तेल का उत्पादन करने का फैसला किया है। कोरोना की वजह से कच्चे तेल की मांग कम हो गई है।
  • चिली ने ठीक हो चुके मरीजों को वायरस फ्री सर्टिफिकेट देने का फैसला किया है। यहां पर अब तक 6 हजार संक्रमित मिले हैं और 57 मौतें हुई हैं। 1 हजार 274 लोग ठीक हुए हैं। देश के स्वास्थ्य मंत्री जैइम मैनालिच ने कहा है कि सर्टिफिकेट पाने वाले लोगों को घर से बाहर निकलने में आसानी होगी।
  • यमन में शुक्रवार को कोरोना का पहला पॉजिटिव केस सामने आया। हद्रामाउट प्रांत में एक व्यक्ति पॉजिटिव पाया गया। कोरोना पर देश की इमरजेंसी कमेटी ने इसकी जानकारी दी। 

न्यूजीलैंड में कोरोना से दूसरी मौत

न्यूजीलैंड में कोरोना से शुक्रवार को दूसरी मौत हुई। देश के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक एक 90 वर्षीया संक्रमित महिला ने दम तोड़ दिया। देश में पहले संक्रमित की तौत 29 मार्च को हुई थी। इसके साथ ही पिछले 24 घंटे में यहां 44 नए मामले सामने आए हैं। देश में संक्रमित और संदिग्ध मामलों की संख्या 1283 है और 373 लोग पूरी तरह से ठीक हुए हैं। गुरुवार को यहां 4,520 टेस्ट किए गए थे, जिनमें 40 प्रतिशत लोग ऐसे थे जो विदेश की यात्रा से लौटे थे।
कोरोना पर यूएनएससी की पहली बैठक हुई

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी)  के सदस्यों ने कहा कि वह कोरोना से निपटने के लिए यूएन प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस की कोशिशों में साथ देगा। कोरोना पर यूएनएससी की पहली बैठक शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई। इसमें संयुक्त राष्ट्र (यूएन) के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस मौजूद थे। गुटेरेस ने कहा कि कोरोना से पैदा हुए खतरे को कम करने में सुरक्षा परिषद की अहम भूमिका होगी। संकट के इस समय में इसे एकजुट और प्रतिबद्ध होकर काम करना चाहिए।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन आईसीयू से बाहर आए

कोरोनावायरस से संक्रमित ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन आईसीयू से बाहर आ गए हैं। बीते तीन दिन से वे लंदन के सेंट थॉमस अस्पताल के आईसीयू में थे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने गुरुवार रात एक बयान जारी कर बताया कि जॉनसन की हालत में सुधार हुआ है। फिलहाल वे वार्ड में हैं। डॉक्टरों की टीम उनकी निगरानी कर रही है। 27 मार्च को बोरिस जॉनसन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया था। इसके 10 दिन बाद उनकी तबियत खराब हो गई है। उन्हें बीते रविवार को को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार को उनकी हालत और खराब हो गई थी। इसके बाद उन्हें आईसीयू में रखना पड़ा। उनकी गैरहाजिरी में विदेश मंत्री डोमिनिक राब उनकी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

कोरोना से संक्रमित ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को गुरुवार को आईसीयू से सामान्य वार्ड में शिफ्ट कर दिए गए।

कोरोनावायरस : सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देश

देश कितने संक्रमित कितनी मौतें कितने ठीक हुए
अमेरिका 4,68,566 16,691 25,928
स्पेन 1,53,222 15,447 52,165
इटली  1,43,626 18,279

28,470

जर्मनी 1,18,235 2,607 

52,407

फ्रांस 1,17,749 12,210    

23,206

चीन  81,907 3,336 77,455
ईरान  66,220 4,110 32,309
ब्रिटेन 65,077 7,978 135
तुर्की  42,983 908 2,142
बेल्जियम 24,983   2,523 5,164

स्रोत: https://www.worldometers.info/coronavirus/



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here