• टीचर्स पिछले 12 सालों से काम कर रहे, नई कंपनी आई तो मुश्किल शुरू हुई
  • शहर के स्कूलों में 154 कंप्यूटर टीचर्स काम कर रहे है

दैनिक भास्कर

Jun 20, 2020, 09:46 PM IST

चंडीगढ़. शहर के गवर्नमेंट स्कूलों में काॅन्ट्रैक्ट पर कंप्यूटर टीचर्स काम कर रहे हैं। इस साल यह कॉन्ट्रैक्ट जिस कंपनी को गया है उसके खिलाफ इन टीचर्स ने डिस्ट्रिक्ट एजुकेशन ऑफिसर को शिकायत की है। शिकायत में लिखा गया है कि आउटसोर्सिंग कंपनी ने टीचर्स से कहा है कि हर एक टीचर उन्हें 12 हजार रुपए दे। अगर ऐसा नहीं किया गया तो कंपनी उन टीचर्स को निकालकर किसी अन्य टीचर को काॅन्ट्रैक्ट पर रख लेगी। टीचर्स ने शिकायत में यह भी आरोप लगाया कि जिस कंपनी को टीचर्स का कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है वह आईटी बैकग्राउंड से है ही नहीं।
154 टीचर्स कर रहे काम
शहर के गवर्नमेंट स्कूलों में कुल 154 कंप्यूटर टीचर्स काम कर रहे हैं। इनमें से 108 जूनियर टीचर्स हैं जिन्हें करीब 30 हजार रुपए की सैलरी मिल रही है और 46 सीनियर टीचर्स हैं जिन्हें करीब 30 हजार रुपए की सैलरी मिल रही है। यह टीचर्स वर्ष 2008 से कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे हैं। सोसाइटी फॉर प्रमोशन ऑफ आईटी इन चंडीगढ़ यानी स्पिक के जरिए इन टीचर्स को वर्ष 2008 में चुना गया। इतने सालों से सबकुछ ठीक चल रहा था लेकिन इस साल यह काम स्पिक की जगह जेम पार्टल के जरिए एक प्राइवेट कंपनी को दे दिया गया। टीचर्स ने बताया कि कंपनी की ओर से उन्हें पंचकूला में एक प्लॉट पर मिलने के लिए बुलाया गया और जब टीचर्स वहां पहुंचे तो पता लगा कि वह सरकारी ट्यूबवेल की जगह है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here