• घर वापसी के लिए रेल का रिजर्वेशन कराकर पैदल वापस लौट रहे थे, इनोवा ने कुचला

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 11:47 AM IST

छतरपुर. लॉकडाउन की अवधि बढ़ाए जाने के बाद घर वापस लौटने के लिए ट्रेन का रिजर्वेशन करा कर पैदल लौट रहे मजदूरों को एक इनोवा कार ने टक्कर मार दी। टक्कर लगने से 2 की मौके पर मौत हो गई, जबकि 3 घायल हो गए। घायलों में एक की हालत नाजुक है, उसे अस्पताल में भर्ती किया गया है। राजनगर तहसील की ग्राम पंचायत नयागांव के मजरा हटवाहा के लच्छीराम पाल पिता दौलता पाल, उसका भाई पप्पू पाल पिता दौलता पाल 35 वर्ष, लच्छी राम का पुत्र रामेश्वर पाल 16 वर्ष जम्मू में रहकर मजदूरी करते थे। लॉकडाउन के कारण सारे काम धंधे बंद हो जाने के बाद उन्होंने घर वापसी का निर्णय लिया। जम्मू से दिल्ली और दिल्ली से यहां तक आने का प्लान बनाया।

शाम को लच्छीराम, पप्पू पाल, लच्छीराम का बेटा रामेश्वर, राजनगर तहसील के गोरा गांव का 25 वर्षीय राहुल अहिरवार एवं अन्य लोग रेलवे स्टेशन पर दिल्ली का रिजर्वेशन कराने गए थे। चूंकि दिल्ली की ट्रेन रात करीब 12 बजे थी, इसलिए शाम करीब 6 बजे वह लोग पैदल वापस लौट रहे थे। इसी दौरान एक तेज रफ्तार इनोवा कार ने आकर उन्हें टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही पप्पू पाल और उसके भतीजे रामेश्वर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि राहुल अहिरवार गंभीर रूप से घायल हो गया और लच्छीराम एवं एक अन्य को मामूली चोटें आईं। 

पुलिस ने सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया, इनमें राहुल अहिरवार की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है। वहीं मृतकों के शवों को पंचनामा बनाकर पीएम के लिए भेजा। राजनगर तहसीलदार झाम सिंह ने बताया कि इस घटना के संबंध में पूरी जानकारी जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को भेज दी है। वहां से ही कोई निर्णय लिया जाएगा।

जम्मू में ही हुआ अंतिम संस्कार
घटना के बाद लच्छी राम पाल ने हटवाहा गांव में अपने भाई शिवपाल को सूचना दी। सूचना मिलते ही पूरे परिवार में कोहराम बच गया। जानकारी मिलते ही खजुराहो सांसद बीडी शर्मा ने जम्मू से गांव तक के लिए सरकारी एंबुलेंस की व्यवस्था कराने को कहा लेकिन गर्मी के मौसम में शव खराब होने के अंदेशा के चलते परिजनों ने मृतकों का अंतिम संस्कार जम्मू में ही करने का निर्णय लिया। शुक्रवार दोपहर मृतक चाचा भतीजा अंतिम संस्कार कर दिया गया।सीएम ने की पीड़ित परिवारों को 5-5 लाख रुपए देेने की घोषणा
घटना की जानकारी लगते ही प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने फेसबुक आईडी पर दोनों मजदूरों की मौत पर शोक व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने पीड़ित परिवारों को मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान कोष से 5-5 लाख रुपए की सहायता देने की घोषणा की।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here