• क्वारंटाइन में रखे लोगों का प्रशासन पर आरोप, न खाना मिलता न बच्चे का दूध
  • बाहरी राज्यों से आने वालों लोगों की होगी स्क्रीनिंग

दैनिक भास्कर

Jun 11, 2020, 11:14 AM IST

चंडीगढ़. शहर में कोरोना पॉजिटिव मामले बढ़ते जा रहे है। आज सुबह 4 पॉजिटिव केस आए है। शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीजाें की संख्या 336 तक पहुंच गई है। इस समय शहर में 42 एक्टिव मरीज हो गए है। शहर की बापूधाम कॉलोनी,दड़वा और सेक्टर-47 से नए केस आए है। आज आए 4 नए मामले सेक्टर-16 से आए है। अब जो भी कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आ रहे है वह नए क्षेत्रों से आ रहे है। आज जो नए मामले आए है उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान के लिए विभाग की ओर से जांच की जा रही है। 

क्वारंटाइन में रखे लोगों का हंगामा

प्रशासन की ओर से शहर के क्वारंटाइन किए गए लोगों की ओर से प्रशासन की पोल खोल दी है। प्रशासन को डर है कि दड़वा गांव में कहीं बापूधाम की तरह कोरोना न फैल जाए, क्योंकि दड़वा से तीन कोरोना पॉजिटिव केस आए हैं और यह चेन लंबी हो सकती है। इस वजह से दड़वा गांव के 58 लोगों को उनके घरों से निकालकर कम्युनिटी सेंटर सेक्टर-47 में ले जाया गया, लेकिन हालात इस सेंटर में और ज्यादा खराब दिख रहे हैं। वॉशरूम सिर्फ एक है और उसमें भी पानी नहीं, पीने के पानी की सही व्यवस्था नहीं और इस्तेमाल किए गए गद्दे दिए जा रहे हैं। इसके खिलाफ कम्युनिटी सेंटर में मौजूद इन लोगों ने बुधवार को धरना प्रदर्शन किया।

खाना नहीं मिल रहा सेंटर में

लोगों का कहना था कि यह सेंटर तो कबूतर खाने से भी बदतर है। दोपहर का खाना भी खाने से मना कर दिया था, लेकिन फिर चंडीगढ़ प्रशासन के अधिकारियों ने उन्हें मनाया तो शाम को वह खाने के लिए मान गए। गौरतलब है कि मंगलवार को दड़वा से इन लोगों को निकालकर कम्युनिटी सेंटर लाया गया था। आरती काे चार महीने पहले बच्चा हुआ था और वह भी अपने पति रीतूराज सिंह के साथ कम्युनिटी सेंटर में क्वारेंटाइन हो गई है। किन्हीं कारणों से बच्चा मां का दूध नहीं ले पा रहा था इसलिए उसे मार्केट से लाकर दूध दिया जाता था, लेकिन पिछले 24 घंटे से बच्चे ने दूध नहीं पिया क्योंकि चंडीगढ़ प्रशासन की ओर से दूध या चाय की व्यवस्था तक नहीं की गई।

अस्पताल में भीड़ रोकने के लिए बनाई कमेटी

कोरोना वायरस की वजह से लगभग दो महीने लॉकडाउन रहा, लेकिन अब धीरे-धीरे जिंदगी पटरी पर आने लगी हैं। लोगों को कई तरह की छूट मिल रही हैं। दूसरे राज्यों में लोगों का आना-जाना बढ़ गया है। लेकिन ये छूट कहीं न कहीं लोगों के लिए खतरनाक भी बन सकती है। प्रशासन की ओर से प्लानिंग की जा रही है कि ट्राईसिटी के बाहर से आने वाले हर शख्स की स्क्रीनिंग की जाए। प्रशासक ने प्रिंसिपल हेल्थ सेक्रेटरी अरुण कुमार गुप्ता को निर्देश दिए हैं कि इस संबंध में एक कॉमन स्ट्रैटजी तैयार की जाए। इसमें पंजाब व हरियाणा का भी शामिल किया जाए। बुधवार को पंजाब राजभवन में हुई वॉर रूम मीटिंग में ये फैसला हुआ। इस मीटिंग में चंडीगढ़ व पंजाब के अफसर मौजूद थे। मीटिंग में फैसला हुआ कि पीजीआई डायरेक्टर के नेतृत्व में एक कमेटी बनाई जाएगी, जोकि यह देखेगी कि किस तरह अस्पतालों में मरीजों की भीड़ इकट्‌ठा न हो। कमेटी में जीएमसीएच-32 और जीएमएसएच-16 के अधिकारियों को भी शामिल किया जाएगा। प्रशासक ने कमेटी को बनाने के लिए अप्रूवल दे दी। प्रशासन की प्लानिंग है कि अगर बेहद जरूरी हो तभी लोग अस्पताल में आएं और पीजीआई में केवल रेफर पेशेंट्स ही आएं।

मोहाली में फिर बढ़ने लगे कोरोना पॉजिटिव मामले

जिले में फिर से कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। बुधवार को नयागांव, मुबारिकपुर और खरड़ से एक-एक कोरोना संक्रमित मरीज मिला। अब कोरोना पॉजिटिव केसों की संख्या 140 हो गई है, जिनमें 24 एक्टिव हैं। नयागांव में सोमवार को 54 लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ था। 53 की रिपोर्ट नेगेटिव आई, लेकिन एडवोकेट महेंद्र जोशी की रिपोर्ट कोरोना पाॅजिटिव आ गई। 39 साल के महेंद्र दशमेश नगर के मकान नंबर 1009 में रहते हैं और पंचकूला सेक्टर-9 में काम करते हैं। एडवोकेट के घर में पत्नी सरोज जोशी (32), बेटा अर्नव (10) और दूसरा बेटा आर्यन (5) रहते हैं। साथ वाले घर में इनकी भातिजी कंचन रहती है, जो सारंगपुर की सरकारी डिस्पेंसरी मेंं काम करती है। इन सभी को क्वारेंटाइन कर दिया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here