• मंत्री तुलसीराम सिलावट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में जिलों के क्राइसेस मैनेजमेंट समूह से बात कर लॉक डाउन के सम्बन्ध में विचार विमर्श किया
  • सिलावट ने अधिकरियों को निर्देश दिए कि किसी भी श्रमिक को समस्या न हो, अभी तक 2 लाख 59 हजार से अधिक श्रमिकों को राज्य में लाया जा चुका है

दैनिक भास्कर

May 13, 2020, 05:16 PM IST

भोपाल. जलसंसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में जिलों के क्राइसेस मैनेजमेंट समूह से बात कर लॉक डाउन के सम्बन्ध में विचार विमर्श किया। सिलावट ने अधिकरियों को निर्देश दिए कि किसी भी श्रमिक को समस्या न हो। देश में कहीं भी प्रदेश के श्रमिक फंसे हों, उन्हें हम लाने का प्रयास कर रहे हैं। अभी तक 2 लाख 59 हजार से अधिक श्रमिकों को राज्य में लाया जा चुका है।

इंदौर रेड ज़ोन में है। सागर की स्थिति बेहतर है। अन्य जिलों में भी स्थिति कंट्रोल में है। सबको राशन उपलब्ध हो, इसकी व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। गेंहू ख़रीदी के सम्बंध में भी सभी कलेक्टर को निर्देश दिए कि किसानों के लिए पानी और खाने की व्यवस्था की जाए। कोरोना से बचाव के लिये लगातार जन जागरण अभियान चलाया जाए और मास्क पहनने, लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराया जाए। जिन जगहों पर कोरोना के नए मरीज नही मिल रहे है वहाँ व्यवसायिक गतिविधियों को चालू करने के लिये प्रयास हों। सभी अस्पतालों और निजी चिकित्सा केंद्रों को अनिवार्य रूप से खुलवाया जाए, सर्दी खांसी और बुखार के मरीजों की अनिवार्य रूप से सेम्पलिंग की जाए।

उन्होंने कहा कि इम्यून सिस्टम बढ़ाने के लिये देशी आयुर्वेदिक काढ़ा और होम्योपैथिक दवा का सेवन कराएं, लोगों को लगातार स्वास्थ विभाग द्वारा दी जा रही गाइड लाइन से अवगत कराएं । सबसे ज्यादा जरूरी है कि सर्दी-खांसी और बुख़ार के मरीज सामने आएं और उनके इलाज के साथ स्क्रीनिंग भी कराई जाए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here