Home Madhya Pradesh Bhopal News In Hindi : Forgiveness departed from the world with the...

Bhopal News In Hindi : Forgiveness departed from the world with the pronunciation of Ram Naam Satya Hai on Mohammed’s shoulders | मोहम्मद के कांधों पर राम नाम सत्य है के उच्चारण के साथ दुनिया से विदा हुई क्षमा

59
0

[ad_1]

  • टीबी की बीमारी से पीड़ित थी महिला, हमीदिया अस्पताल में हुआ निधन
  • टीला जमालपुरा में मुस्लिम युवाओं ने गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश की

दैनिक भास्कर

Apr 16, 2020, 03:53 AM IST

भोपाल. लॉकडाउन के बीच हर कोई किसी ना किसी तरह लोगों की मदद करने में जुटा है। ऐसे में टीला जमालपुरा इलाके में मुस्लिम युवाओं ने गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल पेश की। एक हिंदू महिला की अर्थी को मुस्लिम युवाओं ने ना सिर्फ कांधा दिया बल्कि अंतिम संस्कार का सामान भी खुद के पैसों से जुटाया। हिंदू रीति-रिवाज से महिला का अंतिम संस्कार छोला विश्राम घाट पर किया गया। महिला की मौत हमीदिया अस्पताल में टीबी की बीमारी के चलते देर रात हो गई थी। दो बेटे और पति काम बंद होने के कारण अंतिम संस्कार कराने में असमर्थ थे, ऐसे में पड़ोसी धर्म निभाते हुए युवाओं ने यह पूरा काम किया।

मिलकर किया अंतिम यात्रा का इंतजाम
रहवासी मो. शाहिद खान ने बताया कि 50 वर्षीय क्षमा नामदेव पति मोहन नामदेव को 3 दिन पहले ही वेंटिलेटर पर रखा गया। बुधवार रात 3 बजे उनकी मौत हो गई। उनके साथ उस वक्त उनके बड़े बेटे आकाश और उनके दोस्त आदिल खान थे। लॉकडाउन के बाद से क्षमा के दोनों बेटे और पति बेरोजगार हैं। उनके पास खाने तक का सामान नहीं था। आदिल ने जब इस बारे में बताया तो उन्होंने मोहल्ले वालों से बात की और फिर सभी ने मिलकर अंतिम संस्कार का इंतजाम किया। अंतिम संस्कार के लिए 15 लोगों को शव यात्रा में शामिल होने की अनुमति शासन द्वारा दी गई थी। सभी ने किसी तरह से सामान जमा कर छोला विश्राम घाट में हिंदू रीति-रिवाज से उनका अंतिम संस्कार किया।

[ad_2]

Source link

Previous articleIndia rejected the claim of the American Commission on Religious Freedom, saying – Do not discriminate on the basis of religion in hospitals, do not give religious color to our fight | विदेश मंत्रालय ने अस्पताल में धर्म के आधार पर मरीजों को रखने का अमेरिकी आयोग का दावा खारिज किया, कहा- इस लड़ाई को धार्मिक रंग न दें
Next articleBhopal News In Hindi : Strictness, screening, sampling all over | सख्ती, स्क्रीनिंग, सैंपलिंग सब ज्यादा; पुराने शहर के कंटेनमेंट एरिया में ऐसी बैरिकेडिंग ताकि कोई आ-जा न सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here