• 76 हजार मोबाइल फोन 76263 आंगनबाड़ियों में बांटे जाने, एक फोन की कीमत 7950 रु. है
  • लघु उद्योग निगम ने 60.64 करोड़ रु. के मोबाइल फोन खरीदी का ऑर्डर जारी कर दिया था

दैनिक भास्कर

Apr 25, 2020, 08:47 AM IST

भोपाल. शैलेंद्र चौहान.पिछले महीने जब सुप्रीम कोर्ट ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार को फ्लोर टेस्ट करने का आदेश दिया था, उसी दिन लघु उद्योग निगम ने 60.64 करोड़ रु. के मोबाइल फोन खरीदी का ऑर्डर जारी कर दिया था। 76 हजार मोबाइल फोन 76263 आंगनबाड़ियों में बांटे जाने हैं। एक फोन की कीमत 7950 रु. है। हालांकि इस खरीदी पर तत्कालीन महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने लिखित में आपत्ति जताई थी, लेकिन उनका इस्तीफा मंजूर होने के बाद अफसरों ने खरीदी के लिए पूर्व मंत्री का अनुमोदन भी नहीं लिया और एलयूएन के माध्यम से 19 मार्च को जेम पोर्टल पर शाम 6:30 बजे के बाद खरीदी ऑर्डर कर दिए।  

ऑर्डर दिल्ली की बीडर एनएफ इंफ्रा कंपनी को हुआ। फिलहाल यह ऑर्डर अभी अस्तित्व में है, लेकिन इसकी खरीद प्रक्रिया में की गई जल्दबाजी पर हैरान करने वाली है। मामले में एलयूएन के एमडी मनु श्रीवास्तव का कहना है कि ये प्रक्रिया काफी समय से चल रही थी। रिवर्स ऑक्शन थे। विभाग से एनओसी मिलते ही हमने कॉन्ट्रेक्ट साइन किया। फ्लोर टेस्ट से विभागीय प्रक्रिया का मतलब नहीं। 

तीन दिन में सुनवाई और आर्डर दोनों
मोबाइल खरीदी टेंडर पर हाईकोर्ट में लावा कंपनी ने आपत्ति लगाई थी। एलयूएन ने लावा कंपनी का पक्ष 17 मार्च को सुना था। अगले दिन 18 मार्च को कंपनी के दावे को खारिज कर दिया। इसी दिन महिला बाल विकास ने खरीदी की एनओसी जारी कर दी। राजनीतिक अस्थिरता में फ्लोर टेस्ट का पता चलते ही 19 मार्च को ऑर्डर कर दिए।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here