• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal Lockdown News Update | Bhopal Total 10 Days Lockdown Begin Today In Bhopal From 8 PM: Traffic Police Will Set 22 Checking Points

भोपाल2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • भोपाल में धारा 144 लागू, सिर्फ इमरजेंसी होने पर ही घर के आसपास निकल सकते हैं
  • घर से बाहर जाते समय पहचान पत्र साथ रखना जरूरी रहेगा, वरना कार्रवाई हो सकती है

भोपाल में आज यानि शुक्रवार की रात 8 बजे से 10 दिन का टोटल लॉकडाउन लग गया है। यह 4 अगस्त की सुबह 5 बजे तक रहेगा। ऐसे में कलेक्टर के आदेश पर धारा 144 भी लागू हो गई है। इसका कड़ाई से पालन कराने के लिए शहर में थाना पुलिस 150 और ट्रैफिक पुलिस 22 चेकिंग प्वाइंट लगाएगी। करीब ढाई हजार पुलिसकर्मी शहरभर में लॉकडाउन का पालन कराने के लिए एक समय में होंगे। कानून तोड़ने पर पुलिस को तत्काल कार्रवाई करने के लिए फ्री हैंड मिला है। अब घर से निकलने का कारण बताना जरूरी होगा।

इधर, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भोपालवासियों से कोरोना संक्रमण काल में सावधानी बरतने की अपील की है। उन्होंने भोपाल की बहनों से रक्षाबंधन के त्योहार ई-राखी भेजकर मनाने की अपील की है। मंत्री ने कहा कि कोरोना का सबसे बेहतर उपचार सावधानी है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कोरोना संक्रमितों का नि:शुल्क उपचार कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बीमारी कभी जाति, धर्म, संप्रदाय, अमीरी और गरीबी देखकर नहीं होती है।

इधर, सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी कर कहा है कि राज्य स्तरीय दफ्तरों में अधिकारियों की 100 फीसदी उपस्थिति होगी। वहीं 30 फीसदी कर्मचारियों को ऑफिस आना होगा। राज्य स्तरीय कार्यालयों में वल्लभ भवन (मंत्रालय), सतपुड़ा भवन और अरेरा हिल्स के अन्य कार्यालय जो राज्य शासन के अधीन कार्य करते हैं।

भोपाल के पुराने शहर में कर्फ्यू वाली माता मंदिर के आगे दोनों रोड बंद किए गए हैं। फोटो- शान बहादुर

मोबाइल वैन से अनाउंसमेंट होगा
एएसपी हेडक्वार्टर धर्मवीर सिंह ने बताया कि लोग यह बिल्कुल न समझें की लॉकडाउन का मतलब सिर्फ काम से छुट्टी है। सिर्फ जरूरत पड़ने पर ही लोग घर से निकलें। ऐसे में घर से कुछ दूर तक ही जाने की छूट होगी। इमरजेंसी में पुलिस और प्रशासन को फोन करने पर मदद मिलेगी। लोग अपना पहचान पत्र रखकर ही चलें। कॉलोनियों में लोगों को जानकारी देने के लिए मोबाइल वैन चलाई जाएंगी। इनसे लगातार लोगों को घर रहने और नियमों का पालन के साथ अन्य सूचनाएं दी जाती रहेंगी।

भोपाल में चौक क्षेत्र में गुरुवार को काम का बहाना बताकर बाहर जाने की कोशिश कर रहे लोगों के सामने पुलिस अधिकारी ने हाथ जोड़ते हुए समझाइश दी।

अपना पहचान पत्र लेकर चलें
घर से निकलते समय अपना पहचान पत्र लेकर जरूर चलें। पुलिस के रोकने पर तत्काल वहीं रुक जाएं और उनके निर्देशों का पालन करें। उन्हें अपना परिचय दें और घर से निकलने का कारण बताएं। जरूरी होने पर ही घर से निकलें। सरकारी कर्मचारियों को भी पास होने पर ही घर से निकलने की अनुमति है। इसके अलावा सभी जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग जैसे दूध, दवाई, सब्जी, फल और टेलीकॉम के कर्मचारियों को भी पास रखना जरूरी है।

संभागायुक्त कवींद्र कियावत के निर्देश
लॉकडाउन का प्रभावी रूप से पालन कराने के लिए शुक्रवार को अधिकारियों की बैठक हुई। कमिश्न कवींद्र कियावत ने कहा कि क्षेत्र में अधिक से अधिक एक्टिव रहकर सभी अधिकारी लॉकडाउन का पालन कराएं। जहां भी लोग जमा दिखें, उन्हें रोकें-टोकें और वापस घर भेंजे। अधिकारियों को क्षेत्र में लगातार रहकर मॉनिटरिंग करने को कहा गया है।

लॉकडाउन का पालन कराने को लेकर शुक्रवार को कमिश्नर कवींद्र कियावत ने अधिकारियों के साथ बैठक की।

किसे क्या जिम्मेदारी सौंपी गई?

नगर निगम: भोपाल दुग्ध संघ और नगर निगम के वाहनों से कोरोना से बचाव का मैसेज दिया जाएगा। नगर निगम जरूरतमंदों को खाना और संक्रमित क्षेत्र में सैनिटाइजेशन, जरूरी सामानों को पहुंचाएगा।
पीडब्ल्यूडी और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट: संक्रमित क्षेत्र की बैरिकेडिंग करेगा। फॉरेस्ट डिपार्टमेंट भी लॉकडाउन के दौरान अपनी चेक पोस्ट पर लगातार चैकिंग करेगा और आइसोलेटेड जोन में गश्ती कर लोगों को समझाइश देगा।
महिला बाल विकास और स्वास्थ्य विभाग: घर-घर जाकर सर्वे किया जाएगा। किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण मिलने पर तुरंत टेस्ट करवाया जाएगा।

शहर में थाना पुलिस के 150 और ट्रैफिक पुलिस के 22 चेकिंग लगाएं जाएंगे।

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण से जुड़ी ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं…

1. भोपाल में 190 कोरोना पॉजिटिव मिले; संक्रमितों की संख्या 5 हजार के करीब, कल से 10 दिन लॉकडाउन

2. मुख्यमंत्री के साथ दो दिन पहले लखनऊ गए थे मंत्री अरविंद भदौरिया, देर रात चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया गया

0



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here