• महासमुंद के पिथौरा में कोरोना के संदेह के चलते बस चालक ने रास्ते में भतीजे के साथ उतारा
  • भिलाई में भी प्रवासी श्रमिक की मौत, दोनों श्रमिकों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 04:48 PM IST

महासमुंद/भिलाई. छत्तीसगढ़ में दो प्रवासी श्रमिकों की मौत हो गई। दोनों प्रवासी मजदूर मुंबई से अपने घर पश्चिम बंगाल जा रहे थे। रास्ते में तबीयत खराब होने पर दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने दोनों मजदूरों के शव अस्पताल में रखवाने के साथ ही उनके परिजनों को सूचित कर दिया है। वहीं, दोनों श्रमिकों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। महासमुंद में जहां काेरोना संदेह के चलते बस चालक ने मजदूर और उसके भतीजे को रास्ते में उतार दिया। वहीं भिलाई में तबीयत बिगड़ने दवाई खाने के बाद मजदूर ने दम तोड़ दिया।

जानकारी के मुताबिक, तारकेश्वर पश्चिम बंगाल निवासी हकील मलिक और उसका भतीजा सुल्तान मुंबई में मजदूरी करते थे। दोनों गोरेगांव से बस में बैठकर पश्चिम बंगाल जा रहे थे। रास्ते में राष्ट्रीय राज मार्ग-53 ग्राम लहरौद के पास हाकीम मलिक की तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद बस चालक ने कोरोना का संदेह होने पर दोनों मजदूरों को नीचे उतार दिया। सूचना पर ढाक टोल प्लाजा के पास एंबुलेंस से पिथौरा के सरकारी अस्पताल लाया गया, जहां हाकीम की मृत्यु हो गई है। 

राजनांदगांव से बस में बैठकर जा रहा था सरायपाली

मुंबई से पश्चिम बंगाल लौट रहे मजदूर अब्बू वाकर शेख की जीआरपी चरोदा के पास तबीयत बिगड़ गई। दवाई खाने के बाद उसकी मौत हो गई। राजनांदगांव से वह बस में अपने दोस्त और रिश्तेदार के साथ बैठकर सरायपाली जा रहा था। बस में अचानक उसे चक्कर आ गया। जिसके बाद वह उल्टी करने लगा। दवाई खिलाने के बाद वह कुछ देर तक बड़बडाना रहा। अचानक उसकी सांसें थम गई। घटना का पता शाम करीब 6.30 बजे चला था। पूछताछ में पता चला कि रुकिया थाना कलता (पश्चिम बंगाल) निवासी अब्बू (36) अपने 11 दोस्तों के साथ नौकरी करने के लिए जनवरी में मुंबई गया था।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here