• प्रधानमंत्री ने चंडीगढ़ के प्रशासक वी पी सिंह बदनोर से फोन पर ली चंडीगढ़ के हालात पर जानकारी
  • पंजाब यूनिवर्सिटी के हॉस्टलों में कोविड19 के आइसोलेशन वार्ड बनाने को लेकर हॉस्टलों को हैंडओवर करने की प्रक्रिया पूरी 

दैनिक भास्कर

Apr 30, 2020, 01:13 AM IST

चंडीगढ़. पिछले चार दिन में चंडीगढ़ में कोरोना से संक्रमितों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हुई है। इससे अब कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बढ़ रहा है। पिछले तीन दिनों से अब तक 38 पॉजिटिव केस आने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। चंडीगढ़ में रविवार को 6, सोमवार को 9, मंगलवार को 14 और आज 15 केस आने से शहर का आंकड़ा 74 और ट्राईसिटी का 165 पहुंच चुका है।

बापूधाम और सेक्टर-30 बने कोरोना के गढ़

बापूधाम व सेक्टर-30 अब कोरोना के गढ़ बन चुके हैं। अब यहीं से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। आज सुबह आए 8 मरीजों में से भी सात बापूधाम से ही हैं। इलाके से लगातार मिल रहे कोरोना पॉजिटिव मरीजों से इलाके में रहने वाले लोग आशंकित हो रहे हैं, इसलिए अब प्रशासन ने शहर की ऐसी तमाम कालोनियों को सील कर दिया है, जहां संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। शहर में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की तेजी से बढ़ती संख्या के साथ ही कई गुना रफ्तार से संदिग्धों का मामला भी बढ़ रहा है। जिन सेक्टरों को या एरिया को प्रभावित एरिया घोषित किया गया, उन जगहों पर अब सीसीटीवी कैमरा और ड्रोन से भी उल्लंघन करने वाले लोगों पर नजर रखी जा रही है। 

पीएम ने ली जानकारी 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंडीगढ़ के प्रशासक वी पी सिंह बदनोर से टेलीफोन पर बात कर स्थिति को लेकर जानकारी ली और किस तरह के इंतजाम चंडीगढ़ में किए जा रहे हैं, उसको लेकर प्रशासक से पूछा। हालांकि, बढ़ते मामलों के मद्देनजर फिलहाल शहर में किसी भी तरह की छूट संभव नहीं लग रही, लेकिन फाइनेंस सेक्रेट्री ने कहा है कि वह सभी स्टेकहोल्डर से लॉकडाउन के बाद की प्लानिंग को लेकर बातचीत कर रहे हैं। एडवाइजर मनोज परीदा ने कहा की जिन एरिया में संक्रमण के ज्यादा के सारे हैं, वहां पूरी कोशिश की जा रही है कि उन्हें सील करने के अलावा यह तय किया जाए कि वहां पर लोग सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रखें घर में भी इसके लिए लोकल वॉलिंटियर्स और लीडर्स की भी मदद ली जाएगी। 

पंजाब यूनिवर्सिटी ने हॉस्टल किए हैंडओवर

पंजाब यूनिवर्सिटी के हॉस्टलों में कोविड 19 के आइसोलेशन वार्ड बनाने को लेकर हॉस्टलों को हैंडओवर करने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। इंटरनेशनल हॉस्टल को पूरा खाली कर दिया गया है। यूटी की टीम ने इसका दौरा किया। हॉस्टल नंबर 10 को खाली करने के लिए समय दिया है।इसके करीब ढाई फ्लोर ही खाली हुए हैं। दो दिन से वार्डन इसमें जुटे हैं। 

23 मार्च से अभी तक के कुल आंकड़े

जब से लॉकडाउन लगा है तब से लेकर अब तक 18 हजार 937 लोगों को राउंडअप किया गया है। 1052 ऐसे लोग हैं जिनके पास आरोग्य सेतु एप नहीं था। इसके अलावा 9 हजार 874 वाहनों को डिटेन और 5 हजार 983 वाहनों को इम्पाउंड किया जा चुका है। 460 केस दर्ज कर 710 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here